Singrauli News: स्कूल प्रबंधन भी बसों पर रखें निगरानी: कलेक्टर

Singrauli News Today: 20 सितम्बर। स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों के आवागमन के साधनों में लापरवाही बरते जाने के कारण हो रही दुर्घटनाओं को लेकर आज सोमवार को सायं 5 बजे से जिला पंचायत के सभागार में कलेक्टर राजीव रंजन मीना, एसपी वीरेन्द्र कुमार सिंह व जिला परिवहन अधिकारी विक्रम सिंह राठौर, डीईओ आरपी पाण्डेय की मौजूदगी में निजी विद्यालयों के संचालकों व प्राचार्यों के साथ बैठक संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने विद्यालय प्रमुखों को निर्देश दिया है कि समय-समय पर स्कूल प्रबंधन भी विद्यालय में लगे वाहनों का निरीक्षण कर वाहन चालकों पर निगरानी रखें। ताकि आने जाने वाले स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ किसी तरह की कोई घटना न घटित हो।

Singrauli News: दरअसल प्रदेश में लगातार हो रही स्कूली बसों की दुर्घटना को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर राजीव रंजन मीना की मौजूदगी में आज सोमवार को जिला पंचायत के सभागार में सभी निजी विद्यालय प्रमुखों व प्राचार्यों के साथ बैठक आयोजित की गयी। जिसमें कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने निर्देश दिया कि स्कूल प्रबंधन सप्ताह में दो बार स्कूल में लगे वाहनों का सेफ्टी आडिट कर दिये गये समय में इसकी जानकारी शिक्षा विभाग को प्रेषित करें। साथ ही स्कूली वाहनों में सभी प्रमुख चीजें उपलब्ध होना अनिवार्य हो।

Photo By Google

Singrauli News: जिन बसों संचालकों के द्वारा प्रदेश व उच्च न्यायालय के आदेशों का पालन नहीं किया जा रहा हो ऐसी बसों को छात्र-छात्राओं को लाने व लाने के लिए न लगाया जाय। ऐसे बस संचालकों के साथ अपना अनुबंध समाप्त करें। साथ ही जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा जारी किये गये निर्देशों का पालन करते हुए बस संचालक व स्कूल प्रबंधन तय समय सीमा में सभी जानकारी समय-समय पर जिला शिक्षा कार्यालय को उपलब्ध कराते रहें।

Photo By Google

बसों में चालक,परिचालक का नाम व मो.नंबर हो अंकित: एसपी

Singrauli News: बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह ने स्कूल प्रबंधन व प्राचार्यों को इस बात के निर्देश दिये कि बच्चों को लाने एवं ले जाने के लिए स्कूलों में लगे वाहनों में वाहन चालकों व परिचालकों के नाम व मोबाइल नंबर अंकित होने चाहिए। इसके अलावा बसों में सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस, दो दरवाजे, एक इमरजेंसी गेट, अग्रिशमन यंत्र, फस्र्ट एड किट जो कि एक्सपायर न हो। बसों में सीट बेल्ट, स्पीड कन्ट्रोल डिवाइस, फायर एस्टिंयूसर, फिटनेस सर्टिफिकेट सहित अन्य चीजो का होना अति आवश्यक है। ऐसा नहीं होने पर वाहन चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जावेगी।

Photo By Google

 इसे भी पढ़े-Singrauli News: बिहार से गांजा की खेप लाकर चितरंगी में खपाने जा रहा युवक मोरवा रेलवे स्टेशन के समीप से धराया

बच्चों के बैग का बोझ करें कम: कलेक्टर

Singrauli News: बैठक के दौरान कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने स्कूल प्रबंधन व प्राचार्यों को इस बात के निर्देश दिये हैं कि म.प्र.शासन लोक शिक्षण संचालनालय से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार ही बच्चों के बैग का वजन होना चाहिए। जिसके संबंध में विद्यालय प्रबंधन स्कूल के शिक्षकों के साथ बैठकर मीटिंग करते हुए यह तय करें की छात्र-छात्राओं को किस दिन कौन सी किताब व कापी लेकर आनी है। साथ ही आवश्यकता के अनुसार ही और शासन से मिले दिशा-निर्देशों के अनुरूप बच्चों के बैग का वजन सुनिश्चित किया जाय। इस संबंध में यदि किसी भी विद्यालय प्रबंधन के खिलाफ शिकायत मिलती है तो उक्त विद्यालय प्रबंधन पर उचित कार्रवाई की जायेगी।

Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button