Singrauli News: एनसीएल नेहरू चिकित्सालय में सीबीआई का छापा

Singrauli News Today: 19 सितम्बर। देश की मिनी रत्न कंपनी एनसीएल के निजी चिकित्सालय में उस समय हड़कम्प मच गया जब अचानक सीबीआई की टीम चिकित्सालय पहुंच 50 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए सिविल प्रबंधक व ओवरसियर को रंगे हाथों गिरफ्तार कर ली। देखते ही देखते चिकित्सालय परिसर से लेकर सिंगरौली एनसीएल मुख्यालय तक के अधिकारियों, कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया।

Photo By Google

Singrauli News: दरअसल भारत की मिनी रत्न कंपनी नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की जयंत में मौजूद निजी नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में सिविल प्रबंधक के पद पर मौजूद आर मीणा और ओवरसियर मनदीप गुप्ता के द्वारा अस्पताल के किचनशेड निर्माण में हुई गड़बड़ी को छिपाने के लिए संविदाकार के बिल को पास करने के एवज में दो लाख रूपये की रिश्वत की मांग की गयी। जिसकी शिकायत संविदाकार ने सीबीआई जबलपुर को की थी। जहां आज रविवार को रिश्वत की पहली किस्त 50 हजार रूपये लेते हुए सीबीआई जबलपुर की 8 सदस्यीय टीम ने दोनों आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है।

Photo By Google

Singrauli News: इसके साथ ही सीबीआई की टीम ने हॉस्पिटल कैम्पस में स्थित ऑफिस के साथ-साथ आरोपियों के आवास में भी छापामार कार्रवाई करते हुए रिकार्डों को खंगाला है। वहीं देर शाम तकरीबन 4.30 बजे दोनों आरोपियों को सीबीआई की टीम पूछताछ के लिए अपने साथ जबलपुर लेकर रवाना हो गयी। सीबीआई टीम के छापामार कार्रवाई से नेहरू शताब्दी चिकित्सालय से लेकर हेड क्वार्टर सिंगरौली तक एनसीएल के अधिकारियों, कर्मचारियों में हड़कम्प का माहौल निर्मित हो गया।

Photo By Google

नेहरू चिकित्सालय में सीबीआई की पहली बार रेड

Singrauli News: जानकारी के मुताबिक भ्रष्ट्राचार का गढ़ बन चुके नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में सीबीआई की 8 सदस्यीय टीम ने पहली बार छापामार कार्रवाई की है। सीबीआई के इस छापामार कार्रवाई से जिले में एनसीएल के सभी परियोजना के अधिकारी,कर्मचारियों में हड़कम्प का माहौल निर्मित है। हालांकि अभी भी नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में कई भ्रष्ट्राचारी मौजूद हैं। जिसको लेकर यदि सीबीआई की टीम अच्छे तरीके से आरोपियों से पूछताछ करे तो और भी बड़े खुलासे हो सकते हैं।

Photo By Google

लूट का अड्डा बना नेहरू शताब्दी चिकित्सालय

Singrauli News: सूत्रों की मानें तो नेहरू शताब्दी चिकित्सालय इन दिनों लूट खसोट का अड्डा बना हुआ है। जहां नेहरू चिकित्सालय में मौजूद चिकित्सक बाहर से आने वाले मरीजों से मनमानी रकम वसूल करते हैं। वहीं कैम्पस के बाहर चिकित्सकों की मेहरबानी से आज तक महज 3-4 ही मेडिकल की दुकानें संचालित हैं। यदि कोई और व्यक्ति यहां पर मेडिकल खोले जाने का प्रयास किया जाता है तो चिकित्सालय प्रबंधन व वहां पर पहले से मौजूद मेडिकल संचालकों के द्वारा मेडिकल की अन्य दुकानें नहीं खोलने दी जातीं हैं। यह तो शिकायतकर्ता ने हिम्मत दिखाई नहीं तो अभी तक इस तरह के मामलों में लेन-देन कर मामले को रफा-दफा कर दिया जाता था। लेकिन इस बार सीबीआई की कार्रवाई से मामला उजागर हो गया है।

Photo By Google

चिकित्सकों के इशारे पर भारत सरकार को लाखों का लग रहा चूना

Singrauli News: नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में मौजूदा कथित चिकित्सकों के इशारों पर हो रही हेरा-फेरी के कारण भारत सरकार को सालाना लाखों,करोड़ों रूपये का चूना लग रहा है। हालांकि कई बार मामला प्रकाश में आने पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने इसकी शिकायत एनसीएल प्रबंधन व भारत सरकार से कर चुके हैं। लेकिन चिकित्सक अपनी कारगुजारी से बाज नहीं आ रहे हैं। लिहाजा सरकार को लाखों, करोड़ों रूपये का सालाना चूना लग रहा है।

 इसे भी पढ़े-Singrauli News: विकास सिंह को देवसर एवं सम्पदा सर्राफ को चितरंगी एसडीएम की मिली जिम्मेदारी

Singrauli News: चर्चा यहां तक है कि एनसीएल के कथित कुछेक कर्मचारी बीमार होने का बहाना बनाकर मिलापटी चिकित्सकों से दवाईयां लिखाकर मेडिकल स्टोर से फर्जी बिल बाउचर तैयार करा देते हैं। इसमें सबका कमीशन फिक्स बताया जा रहा है और इसी के आड़ में एनसीएल प्रबंधन के साथ-साथ भारत सरकार को लाखों, करोड़ों रूपये का चूना लगाया जा रहा है। यहां बताया जा रहा है कि एनसीएल नेहरू चिकित्सालय में सिंडीकेट गिरोह काफी अर्से से सक्रिय है।

Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button