SIDHI दही ने ली जान और मिठाई से बिगड़ी 7 की सेहत

सीधी 17 नवम्बर । सीधी के सिहाबल इलाके के एक गांव में आज फूड प्वाइजनिंग से एक ही परिवार के आठ सदस्य शिकार हो गए हैं जिससे सही उपचार ना मिलने से एक बच्चे की मौत हो गई है, वही सात सदस्यों को जिला चिकत्सल्य लाया जहां डाक्टरों की मौजूदगी में इलाज शुरू किया गया है जिनमें तीन की हालत गंभीर बताई गई है, मौके पर जिला प्रसासन पहुंचा है वहीं प्रशासन इस घटना के जिम्मेदार कार्यवाही करने की बात कह रहा है

सीधी के सिहावल ब्लॉक के सवैचा पंचायत के लदबद गांव में आज पटेल परिवार में दीपावली की खुशियां उस वक्त मातम में बदल गई जब कल शाम पूरे परिवार ने एक साथ बैठकर भोजन किया साथ ही उन्होंने मिठाइयां और दही का सेवन कर लिया कुछ घंटों बाद परिवार के सभी लोगों की हालत खराब होने लगी जिन्हें स्थानीय झोलाछाप डॉक्टर के पास ले गए जहां उनकी हालत और खराब हो गई जिन्हें सुबह नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिहावल ले जाया गया जहां पँहुचते ही 13 साल के लड़के पुष्पेंद्र पटेल की मौत हो गई वहीं दो महिला और चार पुरुष एक बच्चा सहित कुल 7 लोगों को जिला चिकित्सालय लाया गया है

जहां डक्टरों की मजूदगी में इलाज शुरू कर दिया गया है,वही जिला कलेक्टर रबीन्द्र चौधरी और पुलिस अधीक्षक दल बल के साथ सिहाबल पहुँचे जहां बीती रात झोला छाप डक्टर के द्वारा की गाई दवाइयों की जाँच सुरु कर दी गाई है,वही इस परिवार द्वारा किया गया दूषित खाने का सेम्पल कलेक्ट कर जाँच के लिये लैब भेजा जा रहा है,वही लोगो की माने तो दूषित दही और मिठाई खाने से हालत बिगड़ गाई है, वही जिला अस्प्तास पहुँचे अपर कलेक्टर ने कहा कि यदि खाने में दूषित पदार्थ खाने से बीमार हुए हैं तो उनके खाने के सैंपल कराया जाएगा जिस दुकान से सामान खरीदा गया है उस दुकान के सामान का सैंपल की जांच कराई जाएगी दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जयेगी

घटना स्थल पर पहुँचे कलेक्टर का कहना है कि जो कल दिन में इस परिवार के लोगो ने भोजन किया था उसके बाद से ही इस परिवार जनों की हालत बिगड़ी है,जिसमें बाहर से भी दूध दही मवा लाया गया था,सभी खाद्य सामग्रियों का सैंपल लेकर लैब जांच के लिए भेजा जा रहा है,वही कलेक्टर ने कहा कि जिस झोला छाप डक्टर के द्वारा इस परिवार की दवाई की गाई है उसके खिलाफ भी कर्यवाही की जाएगी

बाहर हाल सीधी में जिला प्रशासन कितनी गंभीरता से काम कर रहा है ,जिसकी एक बानगी आपके सामने आई है ,खाद्य विभाग ऐसी दुकानों में कभी कार्यवाही नहीं करता जिससे मनमानी के चलते दूषित खाद्य पदार्थ धड़ल्ले से बेचा जाता है, वही जिले में इन दिनों झोलाछाप डॉक्टरों की भी भरमार है जिससे मरीजों की जान से खिलवाड़ किया जाता है ,घटना सामने आने के बाद जिला प्रशासन क्या रुख अपनाता है यह देखने वाली बात होगी

AAD

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button