NCL की परीक्षा में मुन्नाभाई बने छात्रों को लेकर हंगामा

सिंगरौली 5 जनवरी। एनसीएल एचईएमएम की परीक्षा गत 29 नवम्बर को हुई थी। जिसका रिजल्ट 2 जनवरी को प्रकाशित किया गया। लिस्ट प्रकाशन के बाद परीक्षार्थियों ने रिजल्ट को देख एनसीएल मुख्यालय पंजरेह में जमकर हंगामा करते हुए आरोप लगाया है कि एनसीएल के द्वारा हरियाणा के परीक्षार्थियों को तबज्जों दी गयी। जबकि यह परीक्षार्थी ब्लू टूथ के माध्यम से नकल करते पकड़े गये थे। आक्रोशित परीक्षार्थियों ने परीक्षा के नतीजे को देख एनसीएल के कार्यप्रणाली पर आरोप लगाते हुए एनसीएल के सीएमडी व कलेक्टर को शिकायती पत्र देते हुए इस विसंगति पर रोक लगाने की पुरजोर मांग की है।

जानकारी के अनुसार नार्दन कोलफील्डस लिमिटेड द्वारा बीते कुछ दिनों पहले डम्फर ऑपरेटर, फोरमैन, इलेक्ट्रीशियन, टर्नर, फिटर, ड्रिल ऑपरेटर सहित तमाम पदों के लिए आवेदन मांगा गया था। जहां हजारों की संख्या में लोगों ने परीक्षा दिया। परीक्षा के उपरांत जानकारी मिली की परीक्षार्थी ब्लूटूथ सहित तमाम संसाधनों से नकल कर रहे हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार एनसीएल की भर्ती की जिम्मेदारी किसी थर्ड पार्टी को दी जाती है। इसके पीछे आशय यह है कि पारदर्शिता रहे और धांधली ना हो सके

लेकिन चर्चा है कि कार्मिक विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा वरगलाकर एनसीएल स्तर पर नियुक्तियों को लेकर परीक्षाएं अन्य शहरों और राज्यों में संपादित हुई, लेकिन कापियां एनसीएल कार्मिक विभाग द्वारा ही जाँच की गई। परीक्षा परिणाम सामने आने के बाद हंगामा खड़ा हो गया। परीक्षा देने वाले का आरोप है कि इन भर्ती परीक्षा में गड़बड़झाला हुआ है, अपने चहेतों को ही अवसर दिया गया है। हालांकि इनके आरोप कितने सही हैं यह तो जांच का विषय है, लेकिन फिलहाल तो एनसीएल की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो रहा है

एनसीएल के अधिकारियों पर लग रहे आरोप

बीते दिवस एनसीएल द्वारा आयोजित परीक्षा में अभ्यर्थियों ने फर्जीवाड़े का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया जहां आज देखा गया कि एनसीएल मुख्यालय पहुंचे सैकड़ों लोगों ने जमकर हंगामा किया। मौके पर पुलिस पहुंचकर मामले को शांत कराते नजर आई। अभ्यर्थियों ने कहा कि हम सीएमडी से मिलकर ज्ञापन सौंपना चाहते हैं और मामले की निष्पक्ष जांच हो। वहीं अभ्यर्थियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि एनसीएल के अधिकारियों के द्वारा इस परीक्षा में फर्जीवाड़ा किया गया है। चहेतों को लाभ देने के वजह से अन्य अभ्यर्थियों के साथ सौतेला व्यवहार किया गया है। पारदर्शिता नहीं बरती गयी है। वहीं अभ्यर्थियों ने कलेक्टर को भी लिखित आवेदन दिया है।

मुख्यालय का किया घेराव, मोरवा पुलिस ने संभाला मोर्चा
एनसीएल द्वारा गत 29 नवम्बर को आयोजित की गयी परीक्षा में नकल का आरोप लगा है। अभ्यर्थियों ने एनसीएल मुख्यालय पंजरेह का घेराव करते हुए एनसीएल के अधिकारियों पर जमकर भड़ास निकाली है। भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़े का आरोप लगाते हुए आज सैकड़ों अभ्यर्थी एनसीएल मुख्यालय पहुंचे। जहां कहा कि फर्जीवाड़ा नहीं चलेगा, हम लोगों की कॉपियां दिखाई जाए। वहीं मोरवा पुलिस ने मोर्चा संभालते हुए मामले को शांत कराया, अब तो जांच के बाद ही पता चलेगा की आरोप कितना सही है।

AAD

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button