सिंगरौली में इतने है दावेदार, क्या BJP बचा पाएगी अपना मेयर ! SINGRAULI NEWS

सिंगरौली 10  दिसम्बर। नगरीय निकाय चुनाव के आरक्षण की प्रक्रिया पर आज बुधवार को ननि सिंगरौली के मेयर के दावेदार टकटकी लगाये हुए थे। जैसे ही सिंगरौली मेयर पद अनारक्षित मुक्त कोटे में जाने की घोषणा हुई दावेदार अब टिकट के लिए आज से ही भागदौड़ शुरू कर दिये हैं। सबसे ज्यादा टिकट की मारामारी भाजपा में है। जहां करीब एक दर्जन दावेदार तैयार हो गये हैं। हालांकि कांग्रेस, बसपा, आम आदमी पार्टी, भाकपा में दावेदारों की संख्या अभी नगण्य दिख रही है। कांग्रेस में कुछ दावेदार हो सकते हैं।

नगरीय निकाय चुनाव मेयर पद सिंगरौली के आरक्षण की प्रक्रिया बुधवार को भोपाल में पूर्ण हो गयी। मेयर पद अनारक्षित वर्ग में जाने के बाद अब सिंगरौली में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गयी हैं। भले ही नगरीय निकाय चुनाव की तिथि का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन इस कड़ाके की ठण्ड में मेयर आरक्षण गर्मी ला दिया है। बताया जा रहा है कि भाजपा में करीब एक दर्जन छोटे-बड़े कार्यकर्ता आज से ही दावेदारी जताना शुरू कर दिये हैं। जिसमें मुख्य रूप से भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य गिरीश द्विवेदी एवं राम निवास शाह, पूर्व नपानि अध्यक्ष चन्द्रप्रताप विश्वकर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष रामसुमिरन गुप्ता, पूर्व नपानि अध्यक्ष विजय बैस, पूर्व युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष संजीव अग्रवाल, विधायक प्रतिनिधि एवं पूर्व पार्षद रजनीश पाण्डेय, पूर्व सिडा उपाध्यक्ष नरेश शाह एवं पूर्व भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुरेश शर्मा महापौर टिकट के लिए करेंगे। ऐसी चर्चाएं भाजपा नेताओं के नजदीकी कार्यकर्ता शुरू कर दिये हैं।

सतना, रीवा, सीधी और सिंगरौली में इस वर्ग से होंगे महापौर

मेयर पद अनारक्षित वर्ग में जाने के बाद अब नपानि सिंगरौली का चुनाव काफी दिलचस्प होगा। हालांकि इस टिकट की दौड़ में कांग्रेसी कार्यकर्ता भी सक्रिय हो गये हैं। कांग्रेस सहित बसपा,आप व अन्य दलों के दावेदारों के नाम अभी सामने नहीं आये हैं। फिर भी चुनाव मैदान में भाग्य जरूर आजमायेंगे। लेकिन टिकट के लिए सबसे बड़ी मारामारी बीजेपी में है। यहां एक से बढ़कर एक दावेदार तैयार होने लगे हैं। अब ऐसे दावेदार शीर्ष नेतृत्व के यहां आज से ही भागदौड़ करना शुरू कर दिये हैं। चुनाव का ऐलान कब होगा कौन टिकट पायेगा? अभी कुछ तय नहीं हुआ है। भाजपा के दावेदारों की लंबी फेहरिस्त देखकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है

खाना छूने पर MP में दलित की पिटाई, मौत

भितरघातियों पर रहेगी संगठन की नजर

विधानसभा व लोकसभा चुनाव में भितरघात करने वाले दावेदारों पर भाजपा प्रदेश नेतृत्व की नजर रहेगी। ऐसे दावेदारों को पार्टी पहले भी किनारा कर चुकी है और आगे भी करेगी। भाजपा के ऐसे भितरघात विभीषण पहले से ही चिन्हित हो चुके हैं और इस चुनाव में शीर्ष नेतृत्व एहसास भी करा देगा कि भितरघात करने वालों के साथ यही हश्र होता है कि उनकी कहीं कोई पूछपरख नहीं रह जाती

ओलंपिक में पदक जीतने वाली सीता अब बना रही है समोसा REWA NEWS

सांसद, विधायकों की होगी अहम भूमिका

भाजपा जिताऊ या टिकाऊ दावेदार को टिकट मुहैया करायेगी। इसमें भारतीय जनता पार्टी संगठन के साथ-साथ सांसद, विधायकों की राय महत्वपूर्ण होगी। सूत्रों के मुताबिक भाजपा ऐसे ही कैंडीडेट का उतारेगी जो पिछले चुनाव में दगेबाजी न किये हों। पार्टी के बफादारों को तबज्जों मिल सकती है। इसमें सांसद व विधायकों की प्रदेश नेतृत्व राय जरूर लेगा। वहीं भाजपा शीर्ष नेतृत्व रायसुमारी जरूर करेगा इसके बाद ही टिकट फाइनल होगा।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button