सिंगरौली की कलयुगी माँ अपने 5 माह के बेटे को जिंदा जलाया, वजह पढ़ कर हो जायेगे हैरान

सिंगरौली 27 दिसम्बर। चितरंगी थाना क्षेत्र के ग्राम सुकहर निवासी एक क्रूर निर्दयी मॉ ने अपने दुधमुहे 5 महीने के कलेजे के टुकड़े को आग के हवाले कर दिया। जहां दुधमुहा बच्चा धू-धू कर जल गया। इस दिल दहला देने वाली घटना को जिसने भी सुना आह के साथ गले कुछ पल के लिए रूंध गये। घटना की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची चितरंगी पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए जांच पड़ताल शुरू कर दी। वहीं क्रूर महिला को चितरंगी पुलिस ने घटना के चंद घण्टों में ही गिरफ्तार करने में सफलता भी हासिल की है।

घटना के संबंध में पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम सुकहर निवासी फरियादी श्रीपाल सिंह ने थाने में सूचना दिया कि मेरे पोते संदीप सिंह उम्र 5 माह को बहू गुड्डी उम्र 25 वर्ष ने माचिस मारकर आग के हवाले कर दिया। जहां दुधमुहे बच्चे संदीप पिता पुष्पराज सिंह की मौत हो गयी है। दिल दहला देने वाली इस खबर को सुनते ही पुलिस भी कुछ देर के लिए सन्न रह गयी। घटना की सूचना पर उप निरीक्षक मनोज सिंह चौहान ने पुलिस कप्तान वीरेन्द्र सिंह, एएसपी अनिल सोनकर एवं एसडीओपी एसएन सिंह बघेल को अवगत कराते हुए टीआई आरपी रावत के मार्गदर्शन में घटना स्थल पहुंच जांच पड़ताल शुरू करते हुए शव को अपने कब्जे में ले लिया।

पुलिस के जांच के दौरान पता चला कि आरोपी क्रूर महिला ने इस बात पर मासूम को आग के हवाले कर दिया कि दुधमुहा बच्चा संदीप कुछ देर से रो रहा था जो महिला को नागवार लगा और उसके रोने की आवाज को बर्दास्त नहीं कर पायी। कलयुगी महिला के इस दुर्दांत कृत्य की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गयी। वहीं पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराते हुए आरोपी महिला के विरूद्ध भादवि की धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए चंद घण्टों में गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

माचिस मारकर बच्चे को फूंक दिया

सुकहर गांव की दिल को झकझोर देने वाली घटना से हर कोई हदप्रद है। कलयुगी महिला ने जिस तरह से दुस्साहस कर अपने दुधमुहे अपने 5 महीने के कलेजे के टुकड़े को आग के हवाले किया। पुलिस के जांच के दौरान तथ्य सामने आया कि शुक्रवार की सुबह 7 बजे मासूम संदीप रो रहा था। निर्दयी महिला उसके रोने की आवाज को सहन नहीं कर पायी और उसने अपने बच्चे को माचिस की तिली से मारकर आग के हवाले कर फूंक डाली। जब धू-धूकर आवाज उठने लगी तो आरोपी महिला के ससुर व अन्य दरवाजा पीट रहे थे। पुलिस के अनुसार महिला दरवाजा बंद कर अपने बच्चे को आग के हवाले किया और जिस रूम में बच्चा जल रहा था वहां भूसा भी भरा हुआ था।

कलयुगी मां को कोसते रहे लोग

इकलौते बेटे को जिंदा जलाकर मार देने के बाद मॉ के ममता पर भी सवाल उठ रहे हैं। निर्दयी मॉ ने क्रोध को काबू मेें नहीं कर सकी और अपने ही कलेजे के टुकड़े को आग के हवाले कर दिया। हृदय विदारक यह वारदात न केवल झकझोर देती है बल्कि कलयुगी मॉ को स्थानीय लोग कोस रहे हैं। ऐसा इसलिए कि उसने अपने ही लाडले बेटे को आग के हवाले कर दिया। हालांकि बताया जा रहा है कि मासूम बच्चा रो रहा था जिसे निर्दयी मॉ ने बर्दास्त नहीं कर सकी और खौफनाक कदम उठायी

तीन बहनों में इकलौता था संदीप

चार बच्चों की मॉ आरोपी महिला के बारे में पुलिस ने बताया कि उसके तीन बेटियां हैं और चौथा संदीप जन्म लिया था। इकलौते बेटे को उसने हमेशा-हमेशा के लिए खतम कर दिया। इधर चर्चा है कि जादू-टोने के शक में अपने दुधमुहे बच्चे को आरोपी ने आग के हवाले कर दिया। जबकि पुलिस का कहना है कि कुछ महीने पहले उसने झाडफ़ूक कराया था, लेकिन जांच व पूछताछ के दौरान जादू टोना संबंधी कोई बात सामने नहीं आयी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button