माफिया पर कार्यवाही करने में रुके तो खैर नही – एसपी सिंगरौली का फरमान

सिंगरौली 9 जनवरी। जिले के शासकीय भूमि पर बेजा कब्जा करने, रेत का अवैध परिवहन करने व खनिज माफियाओं, चिटफण्ड कंपनी के कारोबारियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें। इसमें किसी प्रकार की हीला-हवाली बर्दास्त नहीं की जायेगी। यदि किसी भी थाना व चौकी प्रभारी द्वारा उक्त कार्रवाईयों में हीला-हवाली व लापरवाही बरती गयी तो शिकायत मिलने पर उन्हें बख्सा नहीं जायेगा।

उक्त बातें सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह ने नये साल के शुरूआत में मासिक अपराधों की समीक्षा बैठक लेते हुए पुलिस अनुभाग, थाना प्रभारी व चौकी प्रभारियों को निर्देश दे रहे थे। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर, सीएसपी, एसडीओपी, आरआई समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र कुमार सिंह ने भू-माफिया, शासकीय भूमि पर अवैध कब्जे धारियों, अवैध रेत परिवहन, खनिज माफियाओं के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करें। साथ ही चिटफण्ड कम्पनियों, आरोपियों के विरूद्ध विशेष प्रयास कर आम जनता का पैसा वापस कराने के लिए व महिला अपराध, गुम बालक-बालिकाओं की दस्तयाबी एवं चिहिन्त अपराधों तथा सायबर क्राइम के प्रकरणों में विशेष संवदेनशीलता प्रदर्शित करने के लिए निर्देशित किया।

बैठक में थाना स्तर पर विवेचना में लंबित अपराध, महिला संबंधी अपराध, एससी,एसटी संबंधित अपराध, चालान, मर्ग, गुम इंसान की प्रकरणवार समीक्षा की गई। साथ ही फरार बदमाश, स्थाई वारंट, गिरफ्तारी वारंट की तामीली के लिए विशेष अभियान के तहत अधिक से अधिक तामील किये जाने हेतु निर्देश दिये गये। इस दौरान राजीव पाठक एसडीओपी मोरवा, एसएन सिंह एसडीओपी चितरंगी, महिला प्रकोष्ठ प्रभारी डीएसपी प्रियंका पाण्डेय, डीएसपी चन्द्रशेखर पाण्डेय एवं जिले के समस्त थाना, चौकी प्रभारी उपस्थित हुये।

लापरवाह थाना प्रभारियों को नोटिस

पुलिस अधीक्षक ने बैठक में सीएम हेल्पलाईन की लंबित शिकायत एवं विभिन्न माध्यमों से प्राप्त होने वाली सभी प्रकार की शिकायतों की गंभीरता पूर्वक समीक्षा की गई एवं समय सीमा के अंदर निराकरण करने हेतु पाबंद किया गया। इसी अनुक्रम में प्रत्येक थाने का भादवि माईनर, प्रतिबंधात्मक धाराओं द्विवर्षीय तुलनात्मक जानकारी का अध्ययन कर संबंधित थाना प्रभारी को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। पुलिस अधीक्षक ने यह स्पष्ट किया कि शिकायतों के निराकरण की लापरवाही करने वाले जॉचकर्ता के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। इस दौरान सम्मन वारण्ट तामीली एवं लंबित चालानों में लापरवाही करने वाले थाना प्रभारियों को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button