भाई-बहन की मौत,परिजनों ने कहा एक्सीडेंट नहीं हत्या है

सिंगरौली 23 सितम्बर। माड़ा थाना क्षेत्र के रजमिलान के समीपस्थ लौआ नाले के पुल पर घायल भाई-बहन ने बीती रात जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान दम तोड़ दिये। इस घटना के बादी साकेत परिवार में कोहराम मच गया। वहीं पुलिस प्रथम दृष्टया में सड़क दुर्घटना मान रही है। जबकि मृतक के परिजन इसे हत्या मानते हुए पुलिस अधीक्षक के यहां आवेदन देकर न्याय की गुहार लगायी है।

जानकारी के मुताबिक ग्राम खैराही निवासी अभिमन्यु उम्र 18 वर्ष अपनी बहन के यहां अमिलिया गांव 19 सितम्बर को गया हुआ था। 21 सितम्बर की रात अभिमन्यु साकेत अपनी बहन अंगिरा पति नंदलाल साकेत को बाइक से लेकर चल दिया। जहां पुलिस का कहना है कि अभिमन्यु एवं उसकी बहन घायल अवस्था में रजमिलान के समीप लौआ पुल पर पड़े हुए थे। इसकी सूचना अभिमन्यु के दोस्त राजेश ने उसके माता-पिता को फोन के माध्यम से दिया। जहां पुलिस मौके से पहुंच घायल भाई-बहन को एम्बुलेंस के माध्यम से जिला चिकित्सालय लाया गया, लेकिन उपचार के दौरान रात करीब 10 बजे दोनों ने दम तोड़ दिया। घटना के संबंध में पुलिस सड़क दुर्घटना मान रही है। जबकि मृतक के माता-पिता व अन्य परिजनों ने दोनों की हत्या होने का संदेह जाहिर करते हुए पुलिस की संदिग्ध भूमिका पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि इसमें पुलिस लीपोपाती कर दी है। फिलहाल आज मंगलवार को दोनों शवों का जिला चिकित्सालय के पोस्टमार्टम कक्ष में पीएम कराया गया।

यह भी पढ़े अब सायरन सुनकर भाग जाएंगे हाथी नहीं होगा किसानों का नुकसान

पीएम कक्ष परिसर में जमकर हंगामा

एक ही घर के दो जवान बेटा-बेटी की मौत होने के बाद आज मंगलवार की सुबह जिला चिकित्सालय बैढऩ के पोस्टमार्टम कक्ष के बाहर मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा करते हुए पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि मृतिका अंगिरा के ससुराल वालों को बचाने का काम करते हुए संदिग्ध हत्या को सड़क दुर्घटना बता रहे हैं। उनका यह भी आरोप है कि घटना स्थल पर रक्त भी नहीं मिला और मोटर साइकिल कहां है इसे नहीं बताया गया, रात में अंगिरा के ससुराल वालों ने मायके आने से क्यों नहंी रोका वे लगातार दहेज की मांग भी कर रहे थे।

यह भी पढ़े पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष कोरोना पॉजीटिव एक महिला ने तोड़ा दम, 18 मिले संक्रमित

मृतिका के ससुराल वालों पर गंभीर आरोप

मृतिका अंगिरा देवी के माता-पिता ने उसके ससुराल पक्ष पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए सनसनी फैला दिया। मृतिका के माता-पिता का आरोप है कि यह सड़क दुर्घटना नहीं, बल्कि सोची-समझी साजिश के तहत हत्या है। बिटिया अंगिरा की शादी के बाद से ही ससुराल से अनबन चल रहा था, बीच में कुछ महीने पहले समझौता होने के बाद उसे ससुराल भेजा गया था। कई सालों तक अंगिरा ससुराल नहीं गयी थी। अंगिरा के पति नंदलाल साकेत दहेज की मांग कर रहा था।

यह भी पढ़े सीधी सिंगरौली को मिली बड़ी सौगात, इस योजना में 196 करोड़ 66 लाख 62 हजार रूपये की स्वीकृति

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button