Singrauli News: कुपोषित बच्चों की बढ़ी रफ्तार,पिछले तीन महीनों में 103 से ज्यादा बच्चे हुए भर्ती

सिंगरौली 24 जुलाई। जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के बगल में संचालित पोषण पुनर्वास केन्द्र में पिछले तीन महीनों में अब तक 103 से ज्यादा बच्चे भर्ती हो चुके हैं। जबकि इसके पहले जनवरी से अप्रैल तक महज 53 कुपोषित बच्चे ही एनआरसी केन्द्र पहुंचे थे। जिसको लेकर महिला एवं बाल विकास विभाग पर सवालिया निशान खड़ा होने लगा है।

Singrauli News: कुपोषित बच्चों की बढ़ी रफ्तार,पिछले तीन महीनों में 103 से ज्यादा बच्चे हुए भर्ती
Photo By Google

दरअसल जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के बगल में संचालित पोषण पुनर्वास केन्द्र में वर्ष 2022 में जनवरी से लेकर अपै्रल तक महज 53 कुपोषित बच्चे ही भर्ती कराये गये थे। जबकि मई, जून व 22 जुलाई की स्थिति में 103 कुपोषित बच्चों को एनआरसी केन्द्र में भर्ती कराया गया है। जिससे कहीं न कहीं महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों पर सवाल खड़ा होने लगा है की क्या वजह रही है की जनवरी से अप्रैल तक महज 53 बच्चे ही एनआरसी केन्द्र पहुंच पाये थे। जबकि कुपोषण के मामले में जिला काफी आगे है।

Singrauli News: कुपोषित बच्चों की बढ़ी रफ्तार,पिछले तीन महीनों में 103 से ज्यादा बच्चे हुए भर्ती
Photo By Google

हालांकि मई, जून व जुलाई में कुपोषित बच्चों के एनआरसी केन्द्र पहुंचने के पीछे कलेक्टर राजीव रंजन मीना के द्वारा दिये गये सख्त निर्देश एवं दस्तक अभियान को माना जा रहा है। दस्तक अभियान के तहत लगातार स्वास्थ्य व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं के द्वारा इन दिनों गांव-गांव घूमकर कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्र लाकर भर्ती कराया जा रहा है। इसके पहले महिला एवं बाल विकास के अधिकारी कुपोषित बच्चों को पुनर्वास केन्द्रों में लाकर भर्ती कराने में अपनी रूचि नहीं दिखा रहे थे। लिहाजा महिला एवं बाल विकास के अधिकारियों पर सवाल उठना लाजिमी है।

Singrauli News: कुपोषित बच्चों की बढ़ी रफ्तार,पिछले तीन महीनों में 103 से ज्यादा बच्चे हुए भर्ती
Photo By Google

इसे भी पढ़े-Singruali News: छोटे भाई ने बड़े भाई को उतारा मौत के घाट

शौंचालय का फर्श क्षतिग्रस्त
हाल ही में निर्माणाधीन नवीन पोषण पुनर्वास केन्द्र भवन के अंदर महिलाओं व बच्चों के लिए बनाया गया शौचालय का फर्श कुछ ही महीनों में क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे अब स्वास्थ्य प्रबंधन सहित भवन निर्माण करने वाले संविदाकार पर सवालिया निशान खड़ा होने लगा है की आखिर कुछ ही महीनों में कैसे शौचालय का फर्श क्षतिग्रस्त हो गया। हालांकि फर्श के क्षतिग्रस्त होने को लेकर एनआरसी के कर्मचारियों ने चिकित्सालय प्रबंधन को जानकारी दे दी है। जिसको जल्द ही ठीक कराये जाने की बात कही जा रही है।

Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button