Satna Today News: 9 कमरों में 13 सौ छात्राएं कर रही पढ़ाई, विद्यालय में सुविधा के नाम पर नहीं है कोई इंतजाम

Satna Today News: सतना जिले के बिरसिंहपुर का कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय के भवन में सुविधा पर्याप्त न होने से छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। विद्यालय स्तर के न तो अनुकूल कमरे है न ही पर्याप्त शिक्षक, जिसके अभाव में शैक्षणिक गतिविधियां प्रभावित होने के साथ ही विद्यालय प्रशासन व विद्यार्थियों को परेशानी का समाना करना पड़ रहा है।

Satna Today News: 9 कमरों में 13 सौ छात्राएं कर रही पढ़ाई, विद्यालय में सुविधा के नाम पर नहीं है कोई इंतजाम
Photo By Google

Satna Today News: सतना जिले के बिरसिंहपुर कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय के हाल बेहाल है जहां मात्र 9 कमरों में 13 सौ छात्राएं पढ़ रही है, छात्राओं की संख्या ज्यादा होने के कारण छात्राओं को जमीन में बैठकर पढ़ाई करनी पड़ रही हैं, उसके बाद भी जगह की समस्या बनी रहती है, विद्यालय में सुविधा के नाम पर नहीं है कोई इंतजाम, कक्षा 1 से 12 वीं तक संचालित इस विद्यालय में कुल 10 शिक्षक पदस्थ है और कक्षाएं है 12वीं तक, आप सहज अंदाजा लगा सकते है कि कैसे होती होगी पढ़ाई, 10 बाई 12 के कमरे में एक एक कक्षा में औसत 100 -100 छात्राओं के है प्रवेश जिस दिन पूरी छात्राएं आ जाती है तो उन्हें खड़े होकर पढ़ाई करना पड़ता है, इसलिए दूसरे दिन वो छात्राएं नही आती विद्यालय।

Photo By Google

Satna Today News: आपको बता दें कि इस उमश भरी गर्मी में अगर बिजली जाने के बाद कक्षाओं में बैठना बहुत कठिन हो जाता है, विद्यालय प्रबंधन ने आला अधिकारियों को इस समस्या के लिए कई बार कहा लेकिन किसी भी जिम्मेदार ने विद्यालय और छात्राओं की सुध नहीं ली।

Photo By Google

इसे भी पढ़े-Satna Today News: सतना की बेटी ने बढ़ाया विंध्य का गौरव- आर्मी के जीएजी में निकिता बनीं लेफ्टिनेंट, सेना में परिवार की तीसरी पीढ़ी

विद्यालय प्रबंधन का कहना है कि छात्राओं की संख्या इतनी ज्यादा है कि विद्यालय का सारा सिस्टम चरमरा गया है। विद्यालय की समस्या के बारे में जब जिला पंचायत सीईओ से बात की गई तो उनका कहना था कि इस समस्या से आपने अवगत कराया है अगर जगह होगी तो शीघ्र नया विद्यालय भवन उपलब्ध कराया जाएगा।

Article By Sunil

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button