Satna News : सतना के जिला अस्पताल में बनेगा प्रदेश का दूसरा मिडवाइफरी लेड केयर यूनिट

सतना के सरदार वल्लभ भाई पटेल शासकीय जिला चिकित्सालय को एक  सौगात मिली है। डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में अब मिडवाइफरी लेड केयर यूनिट (एमएलसीयू) की स्थापना की जाएगी। यह एक तरह का लेबर रूम होगा जहां प्राकृतिक संसाधनों से महिलाओं का प्रसव कराया जाएगा। हाल-फिलहाल जिला अस्पताल में दो तरह से प्रसव कराए जाते हैं, एक तो सामान्य और दूसरा सीजेरियन।

अब इसी तरीके को बदला जाएगा। यह सौगात मप्र के सिर्फ सतना और दतिया जिले को ही दी गई है। जिला अस्पताल में 50 लाख रुपए की लागत से एमएलसीयू बनाया जाएगा। इसके अलावा प्रदेश भर के स्टाफ को प्रशिक्षित करने के लिए यहीं शासकीय जीएनएम नर्सिंग कॉलेज में स्टेट मिडवाइफरी ट्रेनिंग इंसिट्यूट खोला जाएगा।

सतना जिला अस्पताल में एमएलसीयू खोलने के लिए हाल ही में भोपाल से आई 6 सदस्यीय टीम ने मौका मुआयना भी किया है। इसमें एनएचएम की डिप्टी डायरेक्टर समेत यूनिसेफ और जपाइगो के अधिकारी शामिल थे। टीम ने लेबर रूम और ऑपरेशन थियटर का निरीक्षण किया। मिडवाइफरी लेड केयर यूनिट में ट्रेण्ड स्टाफ को रखा जाएगा। इसके लिए स्टाफ नर्स को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा।

सतना जिला अस्पताल की एमएलसीयू में ड्यूटी करने से पहले पैरामेडिकल स्टाफ को छ: माह की ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग के लिए इन्हें सतना से बाहर जाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी क्योंकि यह प्रशिक्षण शासकीय जीएनएम नर्सिंग कॉलेज सतना में ही दी जाएगी। इतना ही नहीं भविष्य में प्रदेश के किसी भी एमएलसीयू में ड्यूटी करने वाली स्टाफ नर्स को यहीं प्रशिक्षण हासिल करना होगा। स्थानीय जीएनएम नर्सिंग कॉलेज को स्टेट मिडवाइफरी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (एसएमटीआई) बनाया जाएगा।

सतना जिला अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ. रेखा त्रिपाठी ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन ने सतना और दतिया को मिडवाइफरी लेड केयर यूनिट बनाने का फैसला लिया है वह बड़े ही गौरव की बात है। सतना में अधिक नार्मल डिलेवरी होने के कारण इसको चुना है। इसमें वाटर बर्थिंग कराई जाएगी। इसके लिए नया लेबर रूम जैसा बनाना है उसमें हमें 6 बेड रखने हैं। यह कल्चर अभी अपने यहां नहीं आया था इसलिए इसे चुना गया है। जो महिलाएं सामान्य प्रसव करा सकती हैं उनके साथ हमारी मिडवाइफ पूरे समय साथ रहेगी। जो पेशेंट चुने जाएंगे उनके साथ रहेगी जब तक कि डिलेवरी हो नहीं जाती। जो मेंटर बनाए जाएंगे वो स्टाफ नर्सेस का च्वाइस करेंगे जो नॉर्मल डिलेवरी ज्यादा कराती हैं। जीएनएम कॉलेज में ट्रेनिंग दी जाएगी।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button