Satna News : पानी के लिए घेरा एसडीएम कार्यालय, दिन रात पानी की तलाश में भटक रहे ग्रामीण

सतना गर्मी के इन दिनों में जिले के मझगवां इलाका भीषण जल संकट से गुजर रहा, लंबे वक्त से पानी की एक एक बूंद को तरस रहे मिचकुरीन ग्राम पंचायत के ग्रामीणों का सब्र टूट पड़ा और सभी ग्रामीण हाथों में पानी के खाली डब्बे और बाल्टी लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचकर पानी की मांग करने लगे,

जिला प्रशासन के आला अधिकारी भी ग्रामीणों की इस जायज मांग पर तत्काल कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है। तस्वीरें मझगवां इलाका के आदिवासी बाहुल्य मिचकुरीन गांव की हैं,, जहां पूरा गांव पानी की भीषण त्रासदी को झेल रहा है गांव के ग्रामीण दिन-रात पानी की तलाश में भटकते रहते हैं,

कोई पहाड़ी जल स्रोतों से पानी भर के लाता है तो कोई सूखे कुओं के पास घंटों एक एक बूंद के इंतजार में बैठा रहता है, गांव के लोग कई किलोमीटर दूर से दिन भर में महज एक से दो डब्बे पानी की तलाश में भटकते रहते है,, ग्रामीणों की माने तो गांव में पाइप लाइन तो बिछा दी गई नाल भी लगवा दिए गए लेकिन गांव में पानी नहीं आता,

गंदा पानी पीकर कई लोग बीमार भी पड़ चुके जिला प्रशासन से भी कई बार मांग की गई लेकिन पानी की आपूर्ति नहीं की जाती, लिहाजा ग्रामीण एकजुट होकर एसडीएम कार्यालय का घेराव करने पहुंच गए हाथों में पानी के खाली डब्बे लकर जिला प्रशासन से पानी की मांग कर रहे।

मामले पर जिला प्रशासन की मानें तो गांव में पाइप लाइन के माध्यम से पानी पहुंचाने का प्रयास किया गया है लेकिन गांव ऊंचे इलाके में होने के कारण पाइप लाइन के माध्यम से पानी वहां तक नहीं पहुंच पा रहा, आचार संहिता लगी है इसलिए कोई नए काम भी नहीं सैंक्शन किए जा सकते, मझगवां एसडीएम ने बताया कि जब तक बारिश नहीं होती टैंकर के माध्यम से प्रतिदिन इन्हें पानी पहुंचाने का आदेश जारी कर दिया गया है।

प्रशासन भले ही पाइपलाइन के माध्यम से गांव तक पानी पहुंचाने का दावा कर रहा लेकिन लाखों खर्च करने के बाद भी ग्रामीणों को पानी नसीब नहीं हो रहा है ऐसे में करोड़ों रुपए की नल जल योजना पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं अब देखना होगा कि ग्रामीणों के इस प्रदर्शन के बाद क्या उन्हें अपने घर पर पानी नसीब हो पाता है या नहीं।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button