Satna News: हाथ में खून की थैली लेकर ब्लड ट्रांसफ्यूजन, तस्वीर वायरल, मचा हड़कंप

Satna News Today: सतना जिले के मैहर सिविल अस्पताल में बीते दिनों एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई थी, उस तस्वीर में एक माँ अपनी बेटी के ब्लड की थैली लिए अस्पताल परिसर में खड़ी थी, और बीमार बच्ची के ब्लड चढ़ रहा था, इस शर्मनाक तस्वीर के वाइरल होते ही जिला प्रशासन के होश उड़ गए, और अब प्रशासन कार्यवाही के नाम पर अपने अलग राग अलाप रहा है।

Photo By Google

Satna News: मध्यप्रदेश सरकार जहां एक ओर स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बड़े-बड़े दावे करते हैं वही इन दावों की जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही हैं, जहां बात कर रहे हैं प्रदेश के सतना जिले के मैहर सिविल अस्पताल की दिनांक 13 सितंबर को संतोषी केवट उम्र 15 वर्ष नामक बच्ची को अस्पताल में शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ प्रदीप निगम द्वारा भर्ती कराया गया था, उस समय बच्ची का जांच में यह सामने आया कि 2.8 ग्राम हीमोग्लोबिन था, और A पाजीटिव ब्लड ग्रप था,

Photo By Google

Satna News: ऐसी स्थिति में बच्ची को ब्लड चढ़वाना जरूरी होता है, मैहर अस्पताल से बच्ची को ब्लड उपलब्ध कराया गया, लेकिन डॉक्टर ब्लड पढ़ाने के लिए बच्ची को वेनफ्लाम लगाकर चले गए लेकिन बच्ची को बेड में लेट आना उचित नहीं समझा, बच्ची को जमीन पर ब्लड चढ़ा दिया, वही उसकी मां ब्लड की थैली ली है बच्ची को ब्लैक चढ़ाते हुए नजर आ रही है, ऐसे में जब यह तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई तो जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया,

Photo By Google

Satna News: आनन-फानन में बच्ची को बेड दिलवाने की व्यवस्था की गई, लेकिन सबसे बड़ी बात तो यह है कि सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं के दावों की जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है, आपको बता दें कि मैहर सिविल अस्पताल 75 बेड का अस्पताल है लेकिन वर्तमान में 110 से अधिक मरीज वहां पर भर्ती हैं ऐसे में अधिकांश मरीजों को उपचार के लिए उपलब्ध नहीं हो पाता है,

Satna News: वहीं सरकार के द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बड़े-बड़े दावे किये जाते हैं, लेकिन इन दावों की दशा और दिशा कब बदलेगी यह तो कोई भी नहीं बता सकता।  इस मामले पर हो मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक अवधिया ने बताया कि 13 सितंबर को संतोषी केवट उम्र 15 वर्ष यह बच्ची को भर्ती किया गया था, जिसका हिमोग्लोबिन 2.8 ग्राम था, और बच्ची का ब्लड ग्रुप ए पॉजिटिव था,

इसे भी पढ़े-Satna News: जिले के अब पनघटी में उल्टी दस्त का प्रकोप, कल होगी क्षेत्र के पानी की जांच

Satna News: ऐसी स्थिति में बच्चे को ब्लड चढ़ाना अत्यंत आवश्यक था, बच्ची को डॉ प्रदीप निगम द्वारा भर्ती कराया गया और उसे ब्लड चढ़ा दिया गया, जिसकी तस्वीर सामने आई है की जमीन में बैठी बच्ची को ब्लड चढ़ाया जा रहा है इस मामले पर कार्रवाई की बात मुख्य चिकित्सा अधिकारी कह रहे हैं। वही यह तस्वीर वायरल होने के बारे में जब जिला कलेक्टर अनुराग वर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह मामला संज्ञान में आया है इस पर कार्यवाही के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं अधिकारी को दे दिए गए हैं।

Article By Sunil

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button