आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन करना पड़ा मंहगा, कारण बताओ नोटिस जारी

सतना । कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अजय कटेसरिया ने विधानसभा क्षेत्र रैगांव में उप निर्वाचन के लिये आदर्श आचार संहिता लागू होने के बावजूद भी ग्राम पनगरा में अतिरिक्त ट्रांसफार्मर एवं विद्युतीकरण कार्य के लिये चाही गई प्रशासकीय स्वीकृति का परीक्षण किये बिना प्रस्ताव प्रस्तुत करने पर जिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी आरके कछवाह को कारण बताओ नोटिस जारी कर 3 दिवस के अंदर जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं। नियत समय में जवाब प्रस्तुत करने पर श्री कछवाह के विरूद्ध एकपक्षीय कार्यवाही की जायेगी।

जिला मजिस्ट्रेट ने जारी नोटिस में बताया है कि सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना अंतर्गत प्रशासकीय स्वीकृति/वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये 19 ग्रामों का प्रस्ताव प्रेषित किया गया है। जिसमें विधानसभा क्षेत्र रैगांव अंतर्गत ग्राम पनगरा के राजपाल सिंह के पंप के पास अतिरिक्त ट्रांसफार्मर एवं विद्युतीकरण कार्य के लिये 3 लाख 89 हजार रूपये की प्रशासकीय स्वीकृति भी शामिल है।

ग्राम पगनरा रैगांव विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने पर इस क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील होने के बावजूद भी श्री कछवाह द्वारा प्रशासकीय स्वीकृति के लिये प्रेषित प्रस्ताव का परीक्षण सही तरीके से नहीं करने और बगैर परीक्षण किये बिना मनमानी तरीके से प्रस्ताव प्रेषित करना घोर आपत्तिजनक होने के साथ-साथ कर्तव्य के प्रति लापरवाही एवं स्वेच्छाचारिता का द्योतक है। साथ ही म.प्र. सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 के विरूद्ध एवं म.प्र. सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के तहत दंडनीय भी है।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button