एमपी में फिर टेंडर घोटाला, चहेतों को टेंडर देने के लिए MPRRDA के अधिकारियों ने नियमों की चढ़ा दी बलि

सतना प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण परियोजना में अधिकारियों ने अपने चहेते ठेकेदारों को लाभान्वित करने के लिए खेला खेल, अपने चहेतों ठेकेदारों को किया क्वालीफाइड तो विरोधी ठेकेदारों को किया डिस्क्वालिफाइड, जबकि किसी भी ठेकेदार ने वर्तमान में चल रहे कार्य को संबंधित विभाग प्रमुख से सत्यापित नही कराया है, न ही किसी संविदाकार द्वारा संविदा के दस्तावेज में इसकी सत्यापित प्रति की कॉपी लगाई गई है।

इसके बाद भी विभाग के अधिकारियों ने नियमों की बलि चढ़ा विरोधी ठेकेदारों की EMD जब्त कर उन्हें डिस्क्वालिफाइड कर दिया, जबकि कुछ निविदाकारों की दूसरे जिलों में क्वालीफाइड किया गया तो दूसरे जिले में डिस्क्वालिफाइड, विभाग के अधिकारियों के चहेते ठेकेदारों ने फर्जी बैलेंसशीट के आधार पर भी नही किया डिसक्वालीफाइड, एमपी में हुए टेंडर घोटाले के फर्जीवाड़े की शिकायत दिल्ली तक पहुँची।

इस तरह किया गया खेल टेंडर घोटाले में अधिकारियों ने जिस शातिराना तरीके से खेल किया है वह अब दस्तावेजों के रूप में सामने आ चुका है। वैष्णो एसोसिएट्स को मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण परियोजना के सतना कि पीआईयू ने डिसक्वालीफाई कर दिया, लेकिन इसी ठेका कंपनी को कटनी पीआईयू ने न केवल क्वालिफाई किया बल्कि उनकी फाइनेन्सियल बिड भी ओपन की गई। उमरिया पीआईयू ने क्वालीफाई करने के साथ ही फाइनेन्सियल बिड तो खोली ही वैष्णो एसोसिट्स को एल-1 भी घोषित हो गया।

सतना मे डिसक्वालीफाई और रीव मे क्वालीफाई मेकर्स कृष्णकांत सोहगौरा ठेका कंपनी को अगर देखें तो सतना पीआईयू ने इसे डिसक्वालीफाई कर दिया। लेकिन इसी कंपनी को रीवा पीआईयू ने इसे क्वालीफाई करते हुए 3 पैकेजों मे फायनेंशियल बिड खोल दी है।

मध्य प्रदेश ग्रामीण सड़क योजना के तहत निकाले गए टेंडर का लाभ चहेतों को देने के लिए एक ही कंपनी को अलग-अलग जिले में अलग-अलग कारणों से डिसक्वालीफाई किया गया है। पन्ना पीआईयू ने 12 जुलाई 21 को पहले अनिल कंस्ट्रक्शन कंपनी को क्वालीफाई किया। बाद में 30 जुलाई को इसे डिसक्वालीफाई कर दिया। सतना पीआईयू ने इसे अलग कारण बता कर डिसक्वालीफाई कर दिया। खेल यहीं खत्म नही हुआ एक ही कंपनी को कुछ टेंडरों मे क्वालीफाई कर दिया तो कुछ को डिस क्वालीफाई कर दिया। यह मामला मेसर्स देव कन्स्ट्रक्शन कंपनी के साथ हुआ।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button