SATNA पुलिस अधीक्षक ने ली ऊर्जा हेल्पडेस्क प्रभारियों की बैठक

सतना 19 जुलाई। जिले में पुलिस मुख्यालय भोपाल के आदेश पर वर्तमान में 16 थानों में ऊर्जा हेल्पडेस्क संचालित किए जा रहे हैं।उर्जा हेल्पडेस्क स्थापना महिला की समस्याओं एवं शिकायतों के त्वरित सुनवाई एवं त्वरित निराकरण के उद्देश्य की गई है। इसका उद्देश्य महिला संबंधी अपराधों को नियंत्रित करना है।

ऊर्जा हेल्पडेस्क प्रभारी एवं कर्मचारी की बैठक पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ली गई। जिसमें पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में महिला सेल के डीएसपी एवं महिला बाल विकास अधिकारी सौरभ द्वारा ऊर्जा हेल्पडेस्क के प्रभारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी ऊर्जा हेल्प डेस्क प्रभारी एवं कर्मचारियों को महिलाओं के प्रति सजग रहने के लिए बोला गया, महिला संबंधी शिकायतों पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। थाने में लंबित बीट प्रभारियों के पास की महिला संबंधी शिकायतें भी ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क प्रभारी को देखना है। संबंधित शिकायतों में जो उचित कार्यवाही जैसे यदि कायमी करना हो,151की कार्यवाही या बाउंड ओवर समझ में आती है, उसे करना है। सभी ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क प्रभारी यह अच्छे से समझें की ऊर्जा हेल्प डेस्क का काम क्या है,

कोई पीड़ित महिला यदि थाने आती है तो उसकी शिकायत को अच्छी तरह सुने, सुनने के बाद उसमें क्या उचित कार्यवाही हो सकती है, वह करे। इसके अलावा पुलिस अधीक्षक ने कुछ प्रमुख शिकायतों को सभी को बताया जैसे कोई महिला घरेलू हिंसा से पीड़ित है, अपने पति से परेशान हैं, पति नशे की हालत में पत्नी को मारता है, घर से निकाल देता है।ऐसे में पति की काउंसलिंग की जाना आवश्यक है, कोई विधवा महिला को उसका ज्येठ या देवर परेशान करता है घर में रहने नही देता। कुछ 376 के मामले ऐसे होते हैं जिसमें महिला प्राइवेट वकील हायर नहीं कर सकती है, ऐसे प्रकरण को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में भेज कर वकील की व्यवस्था की जा सकती है।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button