SATNA : कुख्यात डकैत ददुआ के हाथी को बेचने की थी तैयारी, सिंहपुर से बरामद

पकडे गये हाथी ने डेढ़ साल पहले रायपुरा थाना क्षेत्र के गौरिया क्षेत्र में हंगामा किया था

सतना / चित्रकूट, 18 अक्टूबर। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश (UP & MP) की सीमा में आतंक का पर्याय रहे खुख्यात डकैत ददुआ (DADUAA) उर्फ़ शिव कुमार पटेल के बैगडैल हाथी को शनिवार की रात वन विभाग ने मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की सीमा से बरामद कर लिया . उसे अब दुधवा नेशनल पार्क लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheeri) भेजा गया है। वन विभाग ने बताया कि हाथी को बेचे जाने की तैयारी थी उसे ट्रक से गुजरात के जामनगर ले जाया जा रहा था ददुआ के बेटे और सपा पार्टी के पूर्व विधायक बीर सिंह पटेल इसे गुजरात (Gujrat) में बेचने की फ़िराक में थे लेकिन सटीक सूचना पर काम करते हुए हाथी को मध्य प्रदेश के सतना जिले में सिंहपुर बैरियर के पास से बरामद कर लिया गया

उल्लेखनीय है कि डेढ़ साल पहले हाथी ने जम कर उत्पात मचाया था जिसकी वजह से वन विभाग ने हाथी को जब्त कर लिया था किन्तु सेक्यू सेंटर भेजने की अनुमति मुख्य वन संरक्षक से नहीं मिलने के कारण हाथी को पूर्व विधायक की ही देखरेख में छोड़ दिया गया था

ददुआ के हाथी की बरामदगी के संबंध में चित्रकूट संभागीय वनाधिकारी आरके दीक्षित ने रविवार रात बताया कि हाथी का नाम जय सिंह है . इसे पूर्व विधायक के पिता और मारे जा चुके कुख्यात डकैत ददुआ ने खरीदा था। उन्होंने कहा कि पकडे गये हाथी ने डेढ़ साल पहले रायपुरा थाना क्षेत्र के गौरिया क्षेत्र में हंगामा किया था. इसके बाद हाथी के सम्बन्ध में पूर्व विधायक और ददुआ के पुत्र से कागजात मांगे गए, लेकिन वह कुछ नहीं दिखा सके। हाथी को जप्त कर मथुरा के रेस्क्यू सेंटर भेजने की तैयारी चल रही थी।

मुख्य वन संरक्षक को पत्र भेजा गया था, लेकिन तभी तत्कालीन विधायक ने कर्वी कोतवाली में कागज चोरी होने का मामला दर्ज करवा कर, दस्तावेज पुनः बनवाने का समय माँगा था, इसलिए हाथी को उसकी ही देखरेख में दे दिया गया था । इस दौरान हाथी ने भौरी और प्रसिद्धपुर के गांवों में भी हंगामा किया. चार महीने पहले जब यह महसूस हुआ कि हाथी को बेच दिया जाएगा तो निगरानी बढ़ा दी गई थी। शनिवार की रात जब देवकाली से गुजरात के लिए हाथी को ट्रक पर ले जाया जा रहा था तो इसकी सूचना वन विभाग को मिली और टीम ने पीछा किया. वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क करने के बाद सतना के के सिंहपुर बैरियर पर ट्रक को रोककर हाथी को रेक्यू किया गया.

श्री दीक्षित, संभागीय वनाधिकारी, चित्रकूट ने कहा कि हाथी वन विभाग की संपत्ति हैं. पूर्व विधायक द्वारा इसे बेचने के आरोप में रेंजर रापुरा आरएस दिवाकर ने उनके खिलाफ कर्वी कोतवाली में शिकायत दर्ज कराने की तहरीर दी है। वहीं पूर्व विधायक से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनका मोबाइल फोन बंद मिला।

यह भी पढ़ें : कभी भिखारियों के बगल में सोए लेकिन आज हैं IPS अफसर, गर्लफ्रैंड की शर्त ने बदली किस्मत

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button