लखीमपुर खीरी कांड से गुस्से में किसान,भाजपा नेता के बेटे के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग, सौंपा ज्ञापन

सतना । यूपी के लखीमपुर खीरी कांड के बाद मध्यप्रदेश का किसान भी गुस्से में है। संयुक्त किसान मोर्चा ने घटना के जिम्मेदार भाजपा नेता के बेटे के खिलाफ हत्या का मुकदमा चलाकर उसे फांसी की सजा देने की मांग की है। संयुक्त किसान मोर्चा ने अपनी मांगों का ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

लखीमपुर खीरी कांड के बाद किसानों में जबरदस्त तनाव है। सतना जिले के रैगांव विधानसभा के लिए 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के मद्देनजर सतना जिले में धारा 144 लगी है बावजूद इसके संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले किसान एकत्रित हुए और यूपी सरकार के विरोध में नारेबाजी की। सांकेतिक प्रदर्शन के बाद मोर्चा ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।

संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक अरुण प्रताप सिंह ने कहा कि भाजपा के मंत्री के बेटे द्वारा निरापराध किसान जो अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे थे उनको गाड़ी से रौंदा और गोली चलाया उसी के खिलाफ आज हम लोगों का सांकेतिक प्रदर्शन था। हम राष्ट्रपति से मांग  कर रहे हैं कि पहले तो उस मंत्री के बेटे को और उसके सहयोगियों को गिरफ्तार करके 302 जैसी धाराओं के साथ अपराध पंजीबद्ध करके उनको फांसी की सजा दें।

दूसरी बात ये है कि जिन परिवारों के लोग शहीद हो गए वहां उनके एक बेटे को नौकरी दी जाए तथा उन्हें 25 लाख रुपए कम से कम हर्जाना दिया जाए। जो असहाय अभी भी पड़े हैं उनको भी आर्थिक रूप से मदद की जाए और उनकी दवा निःशुल्क कराई जाए। ये हम लोगों की मांग है। यदि हम अपने अधिकार की बात करते हैं तो हमको कुचला जाता है। ये अभी बंगाल में हार गई तो उत्तर प्रदेश में हमारे किसानों के ऊपर अत्याचार करने लगी… इस बात को लेकर हमारा ये सांकेतिक धरना था। जब ये सरकार हमारे ऊपर दमन की नीति चलाएगी तो ये धारा 44 भी तोड़ेंगे और जेल जाने को हम लोग तैयार हैं।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button