सतना में 1 करोड़ 27 लाख से हो गया सौंदर्यीकरण, प्रभारी मंत्री ने दी जानकारी

सतना । स्मार्ट सिटी सतना परियोजना के तहत अब तक 127 करोड़ 98 लाख रुपए लागत के विकास और सौंदर्यीकरण के प्रोजेक्ट वर्क कंप्लीट कर लिए गए हैं। इस आशय की जानकारी कलेक्ट्रेट में प्रभारी मंत्री डॉ कुंवर विजय शाह की अध्यक्षता में संपन्न स्मार्ट सिटी, निर्माण कार्य एवं मुख्यमंत्री जी की घोषणाओं एवं निर्देशों के क्रियान्वयन की समीक्षा बैठक में दी गई।

इस मौके पर सांसद गणेश सिंह, विधायक नागेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी, कलेक्टर अजय कटेसरिया, आयुक्त नगर निगम तन्वी हुड्डा, सीईओ जिला पंचायत डॉ परीक्षित संजयराव झाड़े, अपर कलेक्टर राजेश शाही, स्मार्ट सिटी के अधिकारी और विभाग प्रमुख निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री भी उपस्थित थे।

स्मार्ट सिटी के कार्यों की समीक्षा करते हुए प्रभारी मंत्री डॉ शाह ने कहा कि सतना स्मार्ट सिटी की विकास योजनाओं, निर्माण कार्यों, जन सुविधा के कार्यों को सार्वजनिक कर प्रचार-प्रसार करें। सभी निर्माण कार्यों एवं परियोजना के कार्यस्थल पर सूचना पटल बोर्ड लगाएं। स्मार्ट सिटी के अधिकारी मौके पर जाकर निर्माण कार्यों में गति लाएं और निगरानी करें। प्रभारी मंत्री शाह ने कहा कि सभी निर्माण और परियोजना कार्यों की एजेंसी और संविदाकार की बैठक बुलाकर नियत सीमा में कार्य पूर्ण करने गति लाएं। प्रभारी मंत्री डॉ शाह ने कहा कि वह स्वयं स्मार्ट सिटी और नगर निगम के कार्यों की हर माह समीक्षा अलग-अलग स्पाट कार्यस्थल पर करेंगे।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिन कार्यों के टेंडर और वर्क ऑर्डर जारी हो गए हैं, उन एजेंसियों को बुलाकर ताकीद करें कि हर हाल में नियत समय-सीमा में कार्य पूर्ण करना होगा। प्रभारी मंत्री ने कहा कि निर्माण और विकास कार्यों के लिए स्मार्ट सिटी के प्रभारी अधिकारी मौके पर जाकर हर हफ्ते की कार्य प्रगति का वीडियो क्लिप बनाकर प्रस्तुत करेंगे।
   
कलेक्टर अजय कटेसरिया ने स्मार्ट सिटी के परियोजना कार्यों, पेयजल आपूर्ति एवं शहर की आंतरिक सड़कों के प्रोजेक्ट में हो रहे विलंब पर स्मार्ट सिटी के अधिकारियों पर अप्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने शहर की माइनर रोड का प्रोजेक्ट और सर्वे रिपोर्ट तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
     
सांसद गणेश सिंह ने कहा कि स्मार्ट सिटी और नगर निगम में बिजली, पानी, सड़क के कार्य आम शहरी के बेसिक जरूरत के कार्य हैं, इन्हें दुरुस्त करें। जहां शहर में सीवर के कार्य नहीं होने हैं, वहां की आंतरिक सड़कें प्राथमिकता से पूरी करें। सांसद श्री सिंह ने कहा कि अमृत मिशन की जल आपूर्ति योजना का काम शीघ्र शत-प्रतिशत पूर्ण किया जाये।

आयुक्त नगर निगम तन्वी हुड्डा ने स्मार्ट सिटी के पूर्व परियोजना कार्यों एवं प्रगतिरत कार्यों की जानकारी में बताया कि स्मार्ट सिटी के 127 करोड़ 98 लाख लागत के परियोजना कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। प्रगतिरत प्रोजेक्ट्स में पीएमएवाय में इंटरनल रोड एवं ड्रेन वर्क 11 करोड़ 72 लाख, लेक नेक्टर 27 करोड़ 74 लाख, सिंथेसिस पार्क 5.39 करोड़, सीवरेज नेटवर्क 1.58 करोड़, अमौधा तालाब 4.12 करोड़, जगतदेव तालाब 8.14 करोड़, स्मार्ट सिटी रोड डालीबाबा से सतना नदी तक 17 करोड़, विजुअल एम्प्रूवमेंट वर्क 37.45 करोड़, साइकिल ट्रैक 5.50 करोड़, नारायण तालाब 9.70 करोड़, व्यंकटेश मंदिर 8.27 करोड रुपए लागत की योजनाओं का कार्य जारी है। नगर निगम द्वारा संचालित सामाजिक सुरक्षा योजना एवं संबल योजना की भी समीक्षा की गई।

माधवगढ़ में नदी पर बनेगा वॉटर टैंक, होंगे वॉटर स्पोर्ट्स
प्रभारी मंत्री डॉ कुंवर विजय शाह ने स्मार्ट सिटी के तहत माधवगढ़ के पास टमस नदी में किले के नीचे वाटर बॉडी की विशाल संरचना बनाने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि टमस नदी में पुराने एनीकट से डाउनस्ट्रीम में सड़क पुल तक के क्षेत्र में एक बड़ा सा डैम या एनीकट बनाकर वाटर बॉडी तैयार की जा सकती है। जिससे नगर निगम की वाटर सप्लाई के लिए पानी का पर्याप्त संग्रह रहेगा। इस वाटर पार्क में वाटर स्पोर्ट्स एवं एडवेंचर स्पोर्ट्स भी कराए जा सकेंगे।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button