सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना पर भड़के कलेक्टर

सतना 19 अगस्त 2020। बुधवार को कलेक्टर कक्ष में सड़क सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न हुई। लोक निर्माण विभाग एवं एमआरडीसी के अधिकारियों द्वारा नेशनल/स्टेट हाइवे से जुड़ने वाली सड़को पर स्पीड ब्रेकर नही बनाए जाने तथा नेशनल/स्टेट हाइवे सड़को पर स्पीड ब्रेकर बनाकर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करने पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी, एआरटीओ संजय श्रीवास्तव सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।


जिला कलेक्टर अजय कटेसरिया ने एमपीजीएसवाई द्वारा बनाई गई सड़कें जो ग्रामों को जोड़ती है उन सभी सड़कों में ब्लाग स्कॉट पर स्पीड ब्रेकर बनाने तथा सांकेतिक बोर्ड लगाने के निर्देश दिए। दुर्घटनाओं की संभावनाओं के मद्देनजर कलेक्टर ने कहा कि भविष्य में नेशनल/स्टेट हाइवे की सड़कों पर स्पीड ब्रेकर नहीं बनायें जाएं, बल्कि आवश्यक स्थानों पर प्लास्टिक के स्पीड ब्रेकर लगाएं जाएं। बताया कि हाइवे पर स्थित स्कूलों का मुख्य द्वार/गेट सीधे सड़क पर नहीं खुले न ही हाइवे सड़क पर बस की पार्किंग की जाए। यदि ऐसी कोई स्कूल है जिसका मुख्य द्वार हाइवे पर खुलता है तो स्कूल प्रबंधन मुख्य द्वार/गेट का स्थान बदल दे। जिससे बच्चे सीधे हाइवे पर नहीं पहुंचे। साथ ही स्कूलों की बसें स्कूल कैंपस के अंदर से ही बच्चों को बस में बैठाकर लाएं एवं वापस रवाना करें।मझगवां-चित्रकूट हाइवे पर बनाए गए स्पीड ब्रेकरों से दुर्घटना की संभावना रहती है लिहाजा इस रोड पर बनाए गए स्पीड ब्रेकरों को हटाने के निर्देश दिए गए

इसी प्रकार बिरला रोड के संभावित दुर्घटना स्थलों पर प्लास्टिक के स्पीड ब्रेकर लगाने की स्वीकृति दी गई । बिरला रोड पर यूसीएल चौराहे (नो पार्किंग) पर खड़े किए जाने वाले ट्रकों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए। इसी प्रकार नगर के अन्य स्थलों पन्ना रोड, मैहर बाईपास आदि में नो पार्किंग जोन में खड़े किए जाने वाले वाहनों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए है। बैठक में सड़क सुरक्षा से संबंधित विषयों पर भी चर्चा की गई

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button