सीवर लाइन प्रोजेक्ट ने शहर के सड़कों की शक्ल बिगाड़ दी

सतना शहर में अमृत योजना के तहत 206 करोड़ के सीवर लाइन प्रोजेक्ट ने शहर के सड़कों की शक्ल बिगाड़ दी है, ठेका एजेंसी कंपनी केके स्पन प्रइवेट लिमि.शहर की सड़कों को खोदकर चलते बना, सतना शहर में जून 2017 में शुरू हुए इस काम को आज तक पूरा नही किया गया शहर में 495 किमी सीवर लाइन डालनी थी, टेंडर रेट से कम पर सीवर प्रोजेक्ट का ठेका लेने वाली दिल्ली की केके स्पन कंपनी शुरू से ही विवादों में रही है। गुणवत्ताविहीन काम और कार्य की धीमी गति को देखते हुए पूर्व निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने सीवर लाइन के कार्य पर रोक लगा दी थी। वहीं पूर्व निगमायुक्त प्रवीण सिंह ने नवंबर 2018 में सीवर लाइन के कार्य की समीक्षा करते हुए कार्य की धीमी प्रगति पर कार्रवाई करते हुए ठेका एजेंसी पर 3 करोड़ का जुर्माना अधिरोपित किया था।

निगम प्रशासन की सख्ती के बाद सीवर लाइन के निर्माण कार्य में तेजी की उम्मीद लगाई जा रही थी, लेकिन न तो कार्य की गुणवत्ता में सुधार आया और न की कार्य की गति बढ़ी। ठेका एजेंसी द्वारा बेतरतीब तथा गुणवत्ताहीन किए जा रहे निर्माण कार्य ने शहर की जनता को परेशान कर दिया है। ठेका कर्मचारी बीच सड़क में नाला खोदकर सीवर लाइन डाल देते हैं, लेकिन कार्य पूरा होने के महीनों बाद भी सड़क का रेस्टोरेशन नहीं किया जाता। इससे शहर की सड़कें जर्जर हो गई हैं। सीवर लाइन के गड्ढों में फंसकर प्रतिदिन कोई न कोई वाहन क्षतिग्रस्त हो रहा है। सीवर लाइन का अधूरा कार्य बारिश में जनता के लिए मुसीबत बन गया है। ठेका एजेंसी द्वारा निर्माण कार्य पूरा होने के बाद भी सड़कों की मरम्मत नहीं की जा रही। जिससे बरसात में लोगों का राह चलना मुश्किल हो गया है। सीवर लाइन डालने के बाद टूटी हुई सड़कों की मरम्मत महीनों नहीं की जाती। कांक्रीट की जगह सड़क में मिट्टी डाली जा रही है। जिसमें वाहन फंसने से आए दिन लोग घायल हो रहे हैं।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button