सत्ता की रस मलाई इन तीन के हिस्से आई खादी +खाकी + टाई ………

कल भोपाल के नसरुल्ला गंज मे सूबे के मुखिया जनता को इस बात का भरोसा दिला रहे थे कि वे प्रदेश को तथा कथित माफियायों से मुक्त कराकर ही दम लेंगें

इस दौरान उन्होने तरह तरह के माफियायों की चर्चा की उनकी माफिया लिस्ट मे सभी तरह के भू माफियायों के अलावा गुंडा बदमाश दादा पहलवान जैसे लोग भी थे

मगर इसमे घूंस माफिया का जिक्र नही था

जबकि हकीकत यह है कि यदि सूबे की जनता को सबसे अधिक कोई प्रताडित कर रहा है और जनता का शोषण कर रहा है तो वह प्रदेश के सभी जिलों मे मौजूद घूंस माफिया है

खैर अब यहां यह बतलाने की आवश्यकता नही है कि सूबे के मुखिया ने तमाम माफियायों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात तो की मगर उन्होने घूंस माफिया को छुट्टा क्यों छोड़ रखा है
जाहिर है कि राजनीति का एकमात्र आकर्षण करप्शन है

वरिष्ठ पत्रकार और कवि सुदामा जी कहते हैं कि
जब राजा है चोर…तब भला सिपाही क्या कर लेगा ….

बहरहाल कार्यपालिका का हर छोटे बड़ा मोहकमा घूंस माफिया की गिरफ्त मे है

अब यह मत पूछियेगा कि आखिर इन सबका सरगना कौन है ?

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button