सतना में सिविल सर्जन सहित नायब तहसीलदार है डिफाल्टर, होगी कार्यवाही

सतना । सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया ने कहा कि जिले में राजस्व विभाग के चल रहे भू-अभिलेख शुद्धिकरण अभियान के फलस्वरूप सीएम हेल्पलाइन के राजस्व प्रकरणों में कई प्रकरणों का निराकरण स्वतः हो जाएगा। फिर भी एसडीएम अपने क्षेत्र के सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण पर विशेष ध्यान देकर राजस्व के प्रकरणों में कमी लाएं। सोमवार को समय-सीमा प्रकरणों की संपन्न बैठक में सीईओ जिला पंचायत डॉ परीक्षित राव झाड़े सहित जिला प्रमुख विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर अजय कटेसरिया ने सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा में विभागवार लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। सतना में हुई समीक्षा के दौरान पाया गया कि जिले से सभी 13 हजार 685 प्रकरण लंबित थे। जिनमें एक सप्ताह में 894 शिकायतें कम की गई हैं। सर्वाधिक प्रकरणों में राजस्व, खाद्य एवं आपूर्ति, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी के शामिल हैं। तीन सौ दिवस से अधिक की लंबित सीएम हेल्पलाईन में इस हफ्ते 54 शिकायतें कम की गई हैं। कलेक्टर ने समाधान के विषयों से संबंधित सीएम हेल्पलाईन की अलग से समीक्षा की। पिछले हफ्ते 828 कुल समाधान विषयों के प्रकरणों में 250 का निराकरण कर दिया गया है। अब शेष 578 प्रकरण समाधान के लंबित हैं।

सतना में सिविल सर्जन सहित नायब तहसीलदार है डिफाल्टर

सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरण नॉट अटेण्ड रहने पर सिविल सर्जन डॉ रेखा त्रिपाठी, संजय कुमरे, सहायक कुलसचिव डॉ एसपी शुक्ला, एमएन मिश्रा, बीएमओ डॉ ज्ञानेश गौतम को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। सतना में इसी प्रकार इस सप्ताह के सीएम हेल्पलाईन का कम संतुष्टिपूर्ण निराकरण करने वाले टॉप 10 डिफाल्टर्स में कार्यपालन यंत्री जल संसाधन, डॉ सूर्य प्रकाश शुक्ला सहायक कुलसचिव, प्रभारी सीएमएचओ डॉ चरण सिंह, सिविल सर्जन डॉ रेखा त्रिपाठी, नायब तहसीलदार रमेश कोल, गणेश देशभ्रतार को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

22 मतदान केन्द्रों के निरिक्षण में बीएलओ मिले गायब, सभी को नोटिस हुई जारी

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button