सतना में लॉक डाउन की पहली और अनोखी शादी

सतना : कोरोना महामारी ने लोगों को घरों में ना सिर्फ बंद कर दिया है, बल्कि लोगों की लाइफ स्टाइल उनके कामकाज एवं खुशियां मनाने का तरीका सब बदल गया, पहले शादियां बैंड बाजा बारात के साथ नाचते गाते दुल्हन के दरवाजे पहुंचती थी, लेकिन बिना इन सबके भी सतना में लॉक डाउन के दौरान एक ऐसी शादी हुई है, जिसमें वर वधु के माता पिता और उनके भाई बहन की मौजूदगी में शादी समारोह संपन्न हुआ इस शादी में बैंड बाजा तो था लेकिन बारात नहीं थी वर वधु को आशीर्वाद उनके परिवार के लोगों ने फोन पर दिए और रिश्तेदारों एवं मित्रों ने शादी को ऑनलाइन देखकर भरपूर आनंद लिया।

सतना के मुख्तियारगंज में रहने वाले सुरेश चंद्र मंगल ने अपने बेटे सुभाष का विवाह राम कुमार मंगल की बेटी सोनम से कराया इस शादी समारोह की खास बात यह रही कि विवाह पूरे धूमधाम से बैंड बाजा के साथ संपन्न कराया गया लेकिन इस शादी में बाराती नहीं थे और ना ही जय माल के वक्त वर-वधू को आशीर्वाद देने वाले बुजुर्ग और रिश्तेदार दरअसल लॉक डाउन के दौरान सतना में यह पहली शादी है जिसे सोशल डिस्टेंसिंग के साथ संपन्न कराया गया इस शादी में वर-वधू के माता-पिता और भाई बहन ने मिलकर संपन्न कराया बाकायदा वर वधू ने मास्क पहना और जयमाला कार्यक्रम हुआ एवं मंडप के नीचे शादी हुई इस दौरान परिवार ने अपने सभी रिश्तेदारों को दोस्तों को शादी की सारी रस्में ऑनलाइन दिखाई सभी रिश्तेदारों ने शादी को ऑनलाइन देख कर आनंद लिया एवं फोन पर ही वर वधु को आशीर्वाद दिया,, परिवार का कहना है कि कोरोना महामारी एवं लॉक डाउन के दौरान उनके लिए शादी का करना भी बाकी चीजों की तरह जरूरी था पहले की तरह बैंड बाजा बारात के साथ शादी नहीं की जा सकती लेकिन बिना उसके भी शादी ना हो ऐसा नहीं है इसलिए परिवार ने निर्णय लिया कि वे वर वधु का विवाह करेंगे और इस शादी को अपने दूर रह रहे रिश्तेदारों एवं मित्रों को ऑनलाइन दिखाएंगे, और खुशी-खुशी दुल्हन दूल्हे के घर विदा भी हो गई

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button