सतना में बाघ की दहशत, दो ग्रामीणों को किया घायल SATNA NEWS

सतना 18 जनवरी । सतना जिले के वनों में बाघों की दहाड़ गूंज रही है जबकि वन विभाग लगातार बाघों की मौजूदगी को नजरंदाज कर रहा है।अमरपाटन वन क्षेत्र के जरमोहरा गांव में बाघ ने दो ग्रामीणों पर हमला कर घायल कर दिया है। तो दूसरी ओर मझगवां वन क्षेत्र के बरौंधा के जंगल मे बाघ ने एक चीतल का शिकार किए जाने की खबर है।

दोनों स्थान पर बाघ की मौजूदगी की खबर मिलने के बाद भी वन विभाग कोई कदम नहीं उठा रहा है जिससे वन विभाग की उदासीनता सामने नजर आ रही है।

अमरपाटन क्षेत्र में रविवार की सुबह अचानक जरमोहरा गांव में एक बाघ को देखा गया। बाघ को देखने के लिए ग्रामीणों का हुजूम एकत्रित हो गया। बाघ को देखते ही ग्रामीण अपने घरों में दुबक गए। इसी दौरान बाघ ने हमला करते हुए जरमोहरा निवासी राम लखन केवट व खरवाही निवासी नीरज कुशवाहा को घायल कर दिया। ग्रामीणों के शोरगुल मचाने से बाघ जंगल की ओर भाग गया।इस घटना के बाद ग्रामीणों के बीच दहशत व्याप्त है।

सतना जिले के बरौंधा थाना क्षेत्र की गोपालपुर पंचायत के खपरहाई के जंगल में बाघ ने एक चीतल को अपना शिकार बना डाला। घर से लकड़ी संग्रहित करने जंगल निकले क्षेत्रीय ग्रामीणों ने आज तड़के खपरहाई इलाके पर क्षत-विक्षत लहूलुहान स्थिति में एक चीतल को मृत अवस्था पर देखा। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले लगभग तीन दिनों से क्षेत्र में लगातार शेर की दहाड़ सुनने को मिल रही है।

वंसाकर गांव के खेत-खलिहानों पर शेर के पदचाप मिलने से जहां क्षेत्रीय ग्रामीणों में दहशत है, वहीं आज तड़के खपरहाई जंगल में बाघ द्वारा चीतल का शिकार किए जाने की खबर सामने आने के बाद से क्षेत्रीय ग्रामीण अब खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button