सतना में बजरंबली को ज्ञापन सौंप कर सुरु हुआ आंदोलन SATNA NEWS

सतना 5जनवरी। विंध्य में एक बार फिर बरगी बांध का मुद्दा गर्म हो चुका है, हर चुनाव में बरगी जल विंध्य के लिए चुनावी मुद्दा रहा और सरकारों के वादे हर बार झूठे निकले ऐसे में सरकारों के वादाखिलाफी और चल रही लेट लफेटी के चलते बरगी के मुद्दे को लेकर पूर्व विधायक रामप्रताप सिंह आगे आए है और 20 जनवरी को महापंचायत बैठाने का ऐलान भी किया है। इसी मुद्दे को लेकर आज नागौद के प्रसिद्ध हनुमान मंदिर खेरुआ सरकार में किसानों की पंचायत बुलाई गई और संकटमोचन भगवान महाबीर को ज्ञापन सौंपा गया ।

खेरुआ सरकार को लेकर मान्यता है जो भी सच्चे मन से यहां मत्था टेका और मन्नत मांगी वो जरूर सफल हुया, लिहाज नर्मदा जल लेन के इस आंदोलन की सुरुआत यहीं से की जा रही, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी हर वर्ष यहां मत्था टेकने आये है। नागौद विधानसभा के पूर्व विधायक रामप्रताप सिंह ने बरगी संघर्स समित बनाकर बारगी जल मंदाकिनी में मिलाने की सपथ खा चुके हैं, 20 जनवरी को बरगी के मुद्दे पर महापंचायत का ऐलान भी कर रखा है और आज खैरुआ सरकार में किसानों की पंचायत आयोजित की। सतना जिले की जीवन रेखा मानी जा रही बरगी दायीं तट नहर का निर्माड़ अधर में लटका हुया है । कटनी जिले के स्लीमनाबाद के पास नहर का काम रुका पड़ा है ऐसे में टनल प्रोजेक्ट तय समय मे सफल न होने की आशंका है।

प्रदेश सरकार अब ओपन चैनल बनाकर पानी लिफ्ट करने का प्लान तैयार कर रही जो बरगी संघर्ष समिति को स्वीकार्य नही। बरगी नहर की शुरुआती लड़ाई लड़ने वाले पूर्व विधायक रामप्रताप सिंह ने विन्ध में बरगी नहर से नर्मदा जल लाने मुहिम सुरू की है ।पिछले 40 सालों से बरगी नहर का निर्माण चल रहा मगर पूरा नही हुया,, 2024 में शर्तो के मुताविक यही जल का उपभोग प्रदेश सरकार नही कर पाई तो नर्मदा जल गुजरात के हिस्से चला जायेगा,, ऐसे में अब बरगी नहर को लेकर विंध्य के किसान आंदोलन सुरू कर चुके । इसी तारतम्य में आज विशाल पंचायत आयोजित हुई और खैरुआ सरकार को ज्ञापन सौप मन्नत मांगी गई।

AAD

संवाददाता,अमरीश सिंह

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button