सख्ती के बाद भी जारी है पलायन

तस्वीर गूगल से करोना के कहर ने जहाँ पूरा भारत बंद कर दिया वहीं बंद के बाद बड़े शहरों से पलायन होना शुरू हो गया महानगरों के अलावा छोटे शहरों में भी कामगार रोजनदारी मज़दूरी पर निर्भर रहने वाले रोज कमाकर खाने वालो के सामने एक तरफ कुआ तो दूसरी तरफ खाई है यनि एक तरफ भूखों मरने की नौमत है तो दूसरे तरफ कोरोना जैसी महामारी लिहाजा मजदूर तपका अपने घरों के लिए पैदल चल पड़ा है जबकि कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए सरकार ने पलायन पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दे दिए है कोरोना को रोकने के लिए बन्द के आव्हान के दौरान देश के प्रधान मंत्री ने कहा था जो जहाँ है वही रुक जाए लिहाजा लॉक डाउन के इस अवहावन पर सड़कों पर सन्नाटा है हर राज्य और जिले की सीमाएं लॉक है। वहीं दूसरी देश मे लॉक डाउन होते ही पलायन का दौर शुरू हो गया है मजदूर वर्ग सैकड़ो मील दूर अपने घर को पैदल ही चल पड़े है ये नजारा है सतना के पन्ना नाका एन एच 75 का जहाँ सड़कों पर वीरानी है लेकिन 4 की संख्या में मजदूर वर्ग जो किसी ठेकेदार के अंडर में मजदूरी कर कमाते खाते थे जिनसे लॉक डाउन के बाद ठेकेदार ने किनारा कर लिया 4 दिन घुजरने के बाद मकान मालिक ने भी मकान खाली करवा लिया इन मजदूरों के आगे जब खाने रहने का संकट गहराने लगा है तो अब ऐसे में 400 किलोमीटर की दूरी तय करके ललित पुर अपने घर के अलावा कोई रास्ता नही नजर नही आ रहा जिसके लिए अब ये चारों पैदल ही चल पड़े है रास्ते मे आने वाली तमाम कठिनाइयों का सामना करना अब इनकी मजबूरी है।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button