लॉक डाउन में सब्जी बेच रहा कम्पाउंडर

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी लॉक डाउन में समाज का वह तबका जो सक्षम है खाद्य सामग्री और अन्य आवश्यक संसाधन जिनके लिए सुलभ है वे निश्चित है घरों के अंदर रह कर लॉक डाउन का समय बिता रहें है । लेकिन समाज का वह वर्ग जिसकी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति घर पर रह कर पूरी नही हो पा रही वे अभी भी घरों से निकलने और काम करने को मजबूर है ।

ऐसे ही एक सख्स है बृजकिशोर कुशवाहा । जो सतना के एक नरसिंह होम में बतौर कंपाउंडर काम करते है । लेकिन लॉक डाउन हो जाने से वह नरसिंह होम फिलहाल बंद है और ऐसे में बृज किशोर ने कम्पाउंड्री छोड़ सब्जी बेचना शुरू कर दिया ।

सब्जी बेचता कंपाउंडर बृजकिशोर

लॉक डाउन का समर्थन
बृज किशोर नरेंद्र मोदी के समर्थक है और सतना के ही नजदीक नागौद के रहने वाले है । उन्होंने सतना न्यूज को बताया कि लॉक डाउन की वजह से उनके परिवार के ऊपर पेट पालने की समस्या तो जरुर आ गई है। लेकिन भारत की सरकार और प्रधानमंत्री के पास लॉक डाउन के अलावा इस महामारी से लड़ने का शुरुआती वक्त में कोई चारा नही था । उन्होंने लॉक डाउन का समर्थन करते हुए कहा कि लोगों की सुरक्षा महत्वपूर्ण है , लेकिन परिवार का पेट पलना भी जरूरी है इसलिए जब तक लॉक डाउन की वजह से नरसिंह होम नही खुलता वे सब्जी बेंच कर पेट पाल रहे है ।

कम्पाउंडरी से पहले कर चुके है सब्जी का काम
बृज किशोर ने बताया कि वे इससे पहले सब्जी बेचने का काम करते थे । लेकिन कंपाउडर का काम सीखने के बाद उन्होने सब्जी बेचना बंद कर दिया था । यह सवाल करने पर की क्या नरसिंह होम उन्हें लॉक डाउन के दौरान तन्खाह नही देता तो उन्होंने बताया कि नरसिंह होम फिलहाल बंद है , उन्हें समेत कई लोगों को कुछ दिन पहले छुट्टी दे दी है , 200 रु रोज के हिसाब से उन्हें तन्खाह मिलती थी लेकिन अब छुट्टी है तो वो भी बंद है । रोज की जरूरतों को पूरा करने के लिए किसी का इंतजार करते नही बैठा जा सकता इसलिए वे सब्जी बेच कर काम चला रहे है ।

कोरोना की समझ
बृजकिशोर से हमने कोरोना वायरस पर भी बात की , उन्हे कम्पाउंडर होने की वजह से वायरस की एक हद तक समझ तो है , वे सब्जी बेेेचते समय मास्क का इस्तेमाल करते है , हाथों में ग्लब्स पहनते है , लोगो को खुद से दूरी बनाकर खडे होने को कहते है ।

AAD

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button