लॉक डाउन : कैसे है चित्रकूट में हनुमान ? यहाँ देखे और पढ़े

सतना / चित्रकूट : देश मे जारी लॉक डाउन की वजह से पूरे देश मे आस्था के क्रेंदो में व्यापक असर पड़ रहा मठ मंदिरो के दरवाजे आम नागरिकों के लिए बंद है ऐसे में राम की तपोभूमि चित्रकूट भी अछूती नही रामभक्तों का चित्रकूट में आने पर पावंदी है ऐसे में सबसे ज्यादा संकट उन बेजुवान भगवान राम की वानर सेना को हो रही जो बहुतायत में चित्रकूट में उछलकूद करते है चित्रकूट में वानरों की बहुतायत संख्या है जो लॉक डाउन की बजह से भूखे भटक रहे थे ऐसे में चित्रकूट स्थानीय समाजसेवियों ने नगर पंचायत और मंदिर के महंतो के सहयोग से बेजुबान बंदरो को दाना पानी देने की मुहिम छेड़ी है जो ,प्रतिदिन 50हजार से ज्यादा बंदरो को दाना पानी दे रहे ।इतना ही नही यहां अन्य वेजुवान जानवरों का भी ख्याल रखा जा रहा।ये बेजुवान जानवर आपसी दुश्मनी भूल एक साथ पेट भर रहे ।

ये तस्वीर है राम की तपोभूमि चित्रकूट की ,यहां भगवान राम ने 12वर्ष छह माह का वनवास काटा ।चित्रकूट में अमरता का वरदान प्राप्त भगवान हनुमान ने हनुमान धारा में अदृश्य रूप से स्थान बना रखा है मगर हनुमान के वंशज वानर सेना बहुतायत में मिलती है। लाल और काले मुँह वाले बंदरो की तादात हजारो में है ।चित्रकूट के मठ मंदिरो के साथ जंगलो में समूहों में ये उछल कूद करते नजर आते है ।देस विदेस से आने वाले राम भक्त वानरों को दाना पानी देकर प्रभु राम और हनुमान जी पर आस्था व्यक्त करते है ,पर करोना बायरस को लेकर जारी लॉक डाउन की बजह से रामभक्तों का चित्रकूट आने पर पिछले 18 मार्च से प्रवेश निषेध है । ऐसे में ये वानर सेना भूख से तड़पने लगी ।खान पान न होने की बजह से जंगलो की ओर पलायन कर गई ।लेकिन अब चित्रकोट नगर पंचायत ,मठ मंदिरो के महंत और स्थानीय समाजसेवियों ने इन बेजुवान जनवरो के उदर भरने मुहिम सुरू की है ।प्रतिदिन वेजुवान जनवरो के लिए पूड़ी ,फल ,चना के साथ फल फूल दिया जाने लगा है ।प्रतिदिन चित्रकूट में चार से पांच क्यूंटल चना के साथ साथ अन्य खाद्य सामग्री वानरों को दी जा रही वही आवारा पसुयो को भो भोजन दिया जा रहा ।वेजुवान जानबर भी आपसी दुश्मनी भूल कर एक साथ पेट भर रहे ।वानर गाय बैल कुत्ते एक साथ पेट भर रहे ।स्थानीय समाजसेवियों की मॉने तो वानर अब फिर जंगलो से चित्रकूट वापस लौट रहे ,स्थानीय प्रशासन के साथ साथ साथ मंदिरो के महंत समाजसेवी और सतना के फल ब्यापारी मिलकर ये खर्च उठा रहे

मध्य्प्रदेश उत्तरप्रदेश की सीमावर्ती क्षेत्र चित्रकूट में हजारो की तादात में वेजुवान जानबरो की भरमार है ।लॉक डाउन के कुछ दिनों तक ये भूख से तड़पते रहे मगर अब ये फिर उछलकूद कर रहे ।स्थानीय प्रशासन भी चित्रकूट के समाजसेवियों की प्रसंसा कर रहे ।उनकी मॉने तो मानव के लिए सरकार प्रशासन और समाजसेवी आगे आकर भोजन की व्यवस्था कर रहे वही चित्रकूट के वेजुवानो का भी अच्छे से ख्याल रखा जा रहा जो काबिले तारीफ है ।

AAD

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button