लापरवाही : सतना के ओपन कैम्प में उग गई धान

सतना 6 सितंबर । मध्यप्रदेश के सतना जिले के अनाज के लिए बनाए गए भंडार केंद्रों में अधिकारियों की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है , भंडार केंद्रों में खुले में रखी हुई हजारों क्विंटल धान पानी मे भीग कर खराब हो गयी है, लापरवाही की इंतहा ऐसी की खुले आसमान के नीचे रखी हुई धान अब धान के पेड़ में तब्दील होने लगी है लेकिन अधिकारियों को ये सब नही दिखता।

सतना जिले के भंडार ग्रहों में पूरे जिले की खरीदी हुई धान का मात्र 30 प्रतिशत ही रखा हुआ है, बांकी 70% धान ओपन कैम्प में रखी गयी है लेकिन इन केंद्रों में लापरवाही ऐसी की करोड़ो रूपये का अन्न पानी मे भीग कर खराब हो सड़ने लगा, संबंधित अधिकारियों व मैदानी अमले को सख्त निर्देश देकर सभी केंद्रों में धान को ढंककर सुरक्षित कराने को भी कहा गया था पर सरकारी लापरवाही और बदइंतजामी के कारण वो हो न सका, सरकारी अनाज भंडारण के सरकारी दावे और मैदानी हक़ीक़त कुछ और ही है जिसके कारण हर साल लाखों क्विंटल धान ओपन कैम्पो में सड़कर खराब हो जाती है,और यही खराब धान मिलर के पास से होते हुए गरीब की थाली में पहुँच जाती है।

READ MORE सतना में पिता ने किया बेटी के अपहरण का प्रयास, देखिये वीडियो

जिले के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा ओपन कैम्पो में धान का रखरखाव जिम्मेदारी पूर्वक किया जाता तो शासन को जहाँ करोड़ो का नुकशान नही होता वही यह अन्न लाखों गरीबों की पेट की आग बुझाने में काम आता, पर अफशोश ऐसा हो न सका

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button