मुसीबत में ऐसे कोटेदार मारेंगे भूख़ से

सतना : सरकार और प्रशासन की सख्ती के बाद भी कई जिम्मेदार निजी स्वार्थ के चलते इस आफत की घडी में भी निःसहाय लोगो के हक़ में डाका मारने से बाज नहीं आ रहे वैश्विक महामारी के चलते जहाँ रोज कमाकर खाने वालों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है वहीं उन्हें मिलने वाला राशन भी कोटेदार की काली कमाई की भेंट चढ़ गया है।

इस संक्रमण काल के समय जबकि राज्य सरकारों ने भंडार खोल दिये है और जिला प्रशासन को सख्त निर्देश है कि राशन कार्ड धरियो को तीन माहीने का राशन दिया जाय और जरूरत मंद बिना कार्ड धारियों को भी जिला प्रशासन राशन बटवाये लेकिन सतना शहर की तस्वीर कुछ ऐसी नजर आ रही है जहाँ जरूरत मंदो को राशन नही मिल पा रहा है।उल्टा राशन की दुकान की लम्बी लाइन सोसल डिस्टेंससिंग की धज्जियां उड़ा रही है

सतना शहर के वार्ड 25 में स्थित सरकारी राशान लेने की लम्बी कतार लगी है।कतार में लगी महिला पुरूष में राशन लेने की होड़ मची है,,शोसल डिस्टनसिंग कही नजर नही आ रही है। राशन दुकान में वार्ड के प्रतिनिधि वार्ड पार्षद ने कब्ज़ा कर रखा है और अपने चहेतों को राशान देने में जुटे हैं।वो करोना जैसी महामारी में बरते जाने वाले एतिहात भी भूल गए लम्बी कतार में शोसल डिस्टेसिंग का जरा भी ख्याल नही किया गया।वही जब भीड़ बेकाबू हुई तो पार्षद मौके से दफा हो गए और कोटेदार भी दुकान में ताला जड़कर नो दो ग्यारह हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस बल पहुँच गया और सोशल डिस्टनसिंग बनाने पर जोर दिया।लेकिन तबतक कोटेदार भाग चुका था बाहर खड़ी सैकड़ो की संख्या में भीड़ एक बार फिर बिना राशान के लौट गई जिला प्रशासन की ऐसी व्यस्था को देखकर सहज ही अंजदाज लगया जा सकता है।संक्रमण के इस काल मे जिला प्रशासन की अनदेखी के चलते जरूरत मंद खासा परेशान है।और बिचोलिये मुनाफा खोरी में जुटे हैं।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button