दीना, अनमोल और सोनाली सहित जिले के सैकड़ों छात्र देंगे नीट की परीक्षा निःशुल्क परिवहन सुविधा बनी वरदान

सतना 12 सितम्बर 2020/कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन एवं बंद पड़ी परिवहन व्यवस्था, नीट की परीक्षा देने वाले छात्रों के सामने सबसे बड़ी समस्या बनी हुई थी। उनकी परीक्षा की तैयारी तो हो चुकी थी लेकिन मुख्य कठिनाई परीक्षा केन्द्र इन्दौर, भोपाल, जबलपुर जैसे दूरस्थ शहरों तक पहुंचने की थी। छात्रों की इस समस्या के संबंध में जैसे ही मुख्यमंत्री को सूचना मिली उन्होंने जिला प्रशासन को छात्रों के लिये निःशुल्क परिवहन सुविधा उपलब्घ कराते हुए गन्तव्य तक पहुंचाने के निर्देश दिये।

सतना के पंजाबी मोहल्ला निवासी छात्र दीना कुमार सोनी, चित्रकूट (कर्वी) के अनमोल अग्रवाल तथा नागौद की सोनाली बागरी ने बताया कि नीट परीक्षा के लिये हमारा परीक्षा केन्द्र इंदौर में था। सतना से इंदौर तक जाना बहुत मुश्किल लग रहा था क्योकि आवागमन का कोई भी साधन नहीं था। इसी बीच जानकारी मिली कि नीट की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को परीक्षा केन्द्र तक पहुंचाने के लिये सरकार द्वारा निःशुल्क परिवहन सेवा उपलब्ध कराई गयी है।

इनका कहना है कि निःशुल्क बस सेवा हमारे लिए वरदान साबित हुई है। इस व्यवस्था के प्रारंभ होने से हमे सतना से इंदौर परीक्षा केन्द्र तक पहुंचने में सुविधा मिल गयी है। निःशुल्क बस से सुरक्षित पहुंचकर हम नीट की परीक्षा देगे। छात्र-छात्राओं ने मुख्यमंत्री के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार काफी संवेदनशील है और हर वर्ग की मदद करने के लिए तत्पर रहती है।

संवाददाता नरेंद्र कुशवाहा

संवाददाता सतना न्यूज डॉट नेट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button