आखो के सामने फसल हुई बर्बाद

सतना ; कोरोना लॉक डाउन के बीच मध्य प्रदेश सरकार ने गेहूं उपार्जन काम शुरू कर दिया है सतना में भी इसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारी कर रखी थी लेकिन बेमौसम बारिश ने जिला प्रशासन तैयारी की पोल खोल दी है ।उपार्जन केंद्र की खस्ता हाल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है आज अचानक हुई तूफान और बारिश से किसान की रखी मेहनत का रंग उड़ने लगा है।

करोना महामारी में अब किसान की एक मात्र उम्मीदे अपनी फसल से है लेकिन उपार्जन केंद्र की बदतर हालात के चलते अनाज खुले में भगवान भरोसे रखा हुआ है जो बेमौसम बारिश की भेंट चढ़ रहा है जिला प्रशासन की बदहाल व्यस्था किसान की हर उम्मीदों पर पानी फेर रहा है जिले भर में उपार्जन के लिए 110 केंद्र बनाए गए है जिनमे 65 हजार से अधिक किसानों का पंजीयन किया गया है और उन्हें मेसेज कर उनकी फसल की खरीदी की जा रही है लेकिन केंद्रों पर अव्यस्था के आलम को आज तब देखा गया जब अचानक तुफान और बारिश होने लगी केंद्रों उपार्जन के लिए आयी फसल को अपनी आंखों के सामने खराब होता देख किसान अब दहशत में है

रीवा के हृदय रोग विशेषज्ञ निकले कोरोना पॉजटिव, दिल्ली में है चिकित्सक, शहर में हड़कंप

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button