रीवा पहुंचे प्रभारी मंत्री बिसाहूलाल, योजना समिति की बैठक संपन्न

डेढ़ साल बाद आयोजित हुई जिला योजना समिति की बैठक । पिछली सरकार में प्रभारी मंत्री रहे लखन घनघोरिया के बाद अब मंत्री बिसाहुलाल की अध्यक्षता में आयोजित हुई है बैठक । बैठक में जलजीवन मिशन के कार्यों, प्रमुख सड़कों के निर्माण तथा रखरखाव एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यों की समीक्षा

रीवा| जिले के प्रभारी मंत्री बिसाहू लाल प्रभारी मंत्री बनने के बाद पहली बार रीवा पहुंचे जहां उन्होंने कलेकट्रेट के मोहन सभागार में आयोजित जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता की । जिले के प्रभारी मंत्री बिसाहूलाल सिंह मंत्री खाद्य तथा नागरिक आपूर्ति विभाग ने कहा कि जिला योजना समिति की बैठक में जिले के विकास से जुड़े सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं की चर्चा की जायेगी। बैठक में जलजीवन मिशन के कार्यों, प्रमुख सड़कों के निर्माण तथा रखरखाव एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यों की समीक्षा की गई।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा कि सभी अधिकारी अपने क्षेत्र के निर्माण कार्यों की सूची विधायकगणों तथा जिला योजना समिति के सदस्यों को उपलब्ध करायें। जनप्रतिनिधिगण मौके पर जाकर निर्माण कार्यों का जायजा लें। निर्माण कार्यों में किसी तरह की कमी होगी तो उचित कार्यवाही की जायेगी। कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग निर्माणाधीन सड़कों को समय-सीमा में पूरा करायें। बदवार मार्ग तथा बहेरा डाबर मार्ग को 15 दिवस में मोटरेबल बनायें। सीतापुर-रायपुर कर्चुलियान मार्ग का निर्माण दिसंबर माह तक पूरा करायें। मनगवां विधानसभा क्षेत्र में 6 प्रमुख सड़कों में किये गये मजबूतीकरण के कार्य की जांच कराकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। सभी सड़कों तथा अन्य निर्माण कार्यों को खसरे में अनिवार्य रूप से दर्ज करायें।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि जलजीवन मिशन का उद्देश्य 2024 तक हर घर में नल से जल पहुंचाना है। यह प्रधानमंत्री जी की तथा मुख्यमंत्री जी की उच्च प्राथमिकता का कार्यक्रम है। इस योजना से रीवा जिले में 561 बड़ी नलजल योजनाओं का निर्माण कार्य प्रगति पर है। इनका कार्य समय-सीमा में पूरा करायें। सभी विधायकगण विकासखण्ड स्तरीय बैठकों में नलजल योजनाओं तथा जलजीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा करें। बैठक में विधायक गुढ़ नागेन्द्र सिंह, विधायक मऊगंज प्रदीप पटेल, विधायक त्योंथर शश्यामलाल द्विवेदी, विधायक सेमरिया केपी त्रिपाठी तथा विधायक सिरमौर दिव्यराज सिंह ने बिजली की अघोषित कटौती एवं बिगड़े ट्रांसफार्मर समय पर न बदलने का मुद्दा उठाया। इस संबंध में प्रभारी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के स्पष्ट निर्देश हैं कि किसी भी स्थिति में बिजली कटौती न की जाय। सिंचाई के लिये 10 घंटे तथा घरेलू उपयोग के लिये 24 घंटे बिजली उपलब्ध करायें। इस संबंध में किसी तरह की लापरवाही सहन नहीं की जायेगी।

बैठक में पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि अधीक्षण यंत्री बिगड़े ट्रांसफार्मर समय पर बदलें। बिजली न मिलने से किसानों को परेशानी हो रही है। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के रखरखाव तथा चोरहटा से रतहरा सड़क का निर्माण शीघ्र पूरा कराने का सुझाव दिया। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि सभी सड़कें खसरे में दर्ज करायी जायेंगी। शहर में निर्माणाधीन सड़क मार्ग तथा अन्य निर्माण कार्यों की प्रगति की नियमित समीक्षा की जा रही है। बैठक में विधायक मनगवां श्री पंचूलाल प्रजापति ने सड़कों में सुधार तथा बिजली की कटौती बंद करने की बात कही।

बैठक में कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग ने बताया कि जिले में सड़क निर्माण के 62 कार्य स्वीकृत हैं। इनमें चोरहटा से रतहरा सड़क का निर्माण मार्च 2022 तथा सीतापुर से रायपुर कर्चुलियान सड़क का निर्माण दिसम्बर 2021 तक पूरा कराया जायेगा। बैठक में सिरमौर रोड से जुड़ने वाली एप्रोच रोड में स्पीड ब्रोकर बनाने, खनिज मद की लंबित राशि की वसूली, पड़री-चरैया मार्ग पूरा कराने तथा त्योंथर से मऊगंज सड़क का निर्माण समय-सीमा में पूरा कराने के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में जिला पंचायत के उपाध्यक्ष विभा पटेल, भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह, विधायक प्रतिनिधि देवतालाब अवधेश तिवारी, पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, एडीएम इला तिवारी, जिला योजना समिति के सदस्यगण तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button