रीवा में अब 8 बजे बाजार बंद, कलेक्टर ने जारी किये आदेश

रीवा 23 सितंबर । जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर इलैयाराजा टी ने जिले में कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति एवं उसके इलाज व अन्य की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने जिले वासियों से अपील की कि अनुशासन में रहकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव करें। इस दौरान विधायक मनगवां पंचूलाल प्रजापति, जनप्रतिनिधिगण, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, सीईओ, जिला पंचायत स्वप्निल वानखेड़े, अपर कलेक्टर इला तिवारी, अनुविभागीय अधिकारी हुजूर फरहीन खान उपस्थित रहे।

बैठक में कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमित प्रकरणों की 50 प्रतिशत जांच रैपिड किट से तथा शेष 50 प्रतिशत जांच आरटीपी के माध्यम से की जा रही है। प्रति दिवस औसतन एक हजार जांचें हो रही हैं। जिले के शहरी क्षेत्र विशेषकर रीवा शहर में कोरोना पॉजिटिव प्रकरण अधिक संख्या में मिल रहे हैं। संक्रमण बढ़ने के साथ ही जांच के लिये सेंपल भी अधिक लिये जा रहे हैं अभी तक जिले में 50 हजार सेंपल लिये गये हैं जो संभाग में सबसे अधिक हैं। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी सेंपल लिये जाने की कार्यवाही लगातार जारी है। जिले में कुल 23 फीवर क्लीनिक स्थापित किये गये हैं जिनमें से 4 फीवर क्लीनिक रीवा में कार्य कर रही हैं जहां संक्रमित व संभावना वाले मरीजों को चिकित्सक देख रहे हैं। कलेक्टर ने बताया कि जिले में अभी तक 48910 सेंपल के रिजल्ट मिले हैं जिनमें से 1502 एक्टिव केस हैं जबकि 1026 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। रीवा जिले में अभी तक कोरोना के कारण 24 मृत्यु हुई है। जिले में पॉजिटिव प्रकरणों का अनुपात 3 प्रतिशत तथा रिकवरी रेट 68 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की केस हिस्ट्री देखी जाती है साथ ही उसके संपर्क में आने वाले प्रथम व्यक्ति की भी पहचान की जाती है। शहर में रेंडम चेक किये जाने की भी व्यवस्था करायी जा रही है ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान हो सके।

यह भी पढ़े प्रधानमंत्री मोदी की 58 विदेश यात्राओं पर खर्च हुए 517.82 करोड़ रुपये

कलेक्टर ने बैठक में जानकारी दी कि संजय गांधी अस्पताल, कोविड सेंटर चिरहुला तथा जिला अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में बेड, आईसीयू बेड व वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था है साथ पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी उपलब्ध है। अभी तक कोविड के 690 बेड में से 108 मरीज हैं। ऑक्सीजन के साथ 8 मरीज, हाई रिस्क के बेड में 8 मरीज, आईसीयू में 11 तथा 3 मरीज वेंटिलेटर बेड में इलाजरत हैं। संजय गांधी अस्पताल में इनसाइड कैमरा लगाया जा रहा है साथ ही कोविड वार्ड में इलाज करने वाले सीनियर डॉक्टर्स की भी ड्यूटी का चार्ट किया जायेगा। उन्होंने स्वयंसेवी संगठनों से अपील की कि संजय गांधी अस्पताल में बनाये जा रहे हेल्पडेस्क में सहयोगी बनें जिसके माध्यम से डॉक्टर, मरीज व मरीज के परिजनों के बीच समन्वय व सामंजस्य स्थापित हो सके तथा मरीज की स्थिति से उसके परिजन अवगत होते रहें।

यह भी पढ़े सीधी : 5 घंटे तक एंबुलेंस ना पहुंचने से कोरोना संक्रमित की मौत

उन्होंने बताया कि कोविड सेंटर चिरहुला में संक्रमित मरीजों के इलाज खानपान की समुचित व्यवस्था की गयी है साथ ही उनके मनोरंजन हेतु इनडोर गेम, कैरम, लूडो की व्यवस्था है तथा उन्हें समय-समय पर प्रेरक संदेश व व्याख्यान भी दिये जाते हैं। उनके पढ़ने के लिये पत्र-पत्रिकाएं भी उपलब्ध हैं। यहां सफाई कर्मी पूरी निष्ठा व समर्पण से अपना कार्य करते हैं। मरीजों के परिजनों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात भी करायी जाती है। इसी प्रकार जिला अस्पताल में भी नवीन आईसीयू में 18 बेड की व्यवस्था की गयी है जिनमें 7 मरीज भर्ती हैं अभी 20 बेड की और व्यवस्था सुनिश्चित करायी जा रही है। कलेक्टर ने बताया कि होम आइसोलेशन के लिये शासन द्वारा दिये गये मानकों को पूरा करते हुए 315 व्यक्ति होम आइसोलेशन में है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में कोरोना कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर द्वारा होम आइसोलेट मरीजों से दिन में दो बार हाल-चाल जाना जाता है तथा उसकी अद्यतन स्थिति कम्प्यूटर से फीड की जाती है।

बैठक में विधायक मनगवां पंचूलाल प्रजापति ने प्रस्तव रखा कि कोरोना संक्रमण से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिये श्मशान घाट में अलग व्यवस्था करायी जाय। कोविड सेंटर में योगा ट्रेनिंग के लिये समाजसेवी डॉ. प्रभाकर शास्त्री ने प्रस्तावित किया। कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों से अपेक्षा की कि दूकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने व खरीददार से पर्याप्त दूरी बनाकर रखने व भीड़ न लगाने तथा मास्क अनिवार्यत: लगाकर रखने के लिये जागरूक करें। व्यावसायिक प्रतिनिधियों श्री रमेशकाली व कमल सचदेवा ने प्रशासन को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़े सतना जिला अस्पताल में 5 मेडिकल विशेषज्ञ कोरोना संक्रमित, रीवा से बुलाए गए डॉक्टर

इस अवसर पर कलेक्टर ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार बाजार की सभी दुकानें रात्रि 8 बजे बंद हो जायेगी। डेयरी, मेडिकल स्टोर, होटल व रेस्टोरेंट रात्रि 10 बजे तक खुले रह सकेंगे। उन्होंने कहा कि रात्रि 10.30 बजे से प्रात: 6 बजे तक पुलिस पेट्रोलिंग करेगी तथा अनावश्यक घूमने वालों पर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचें, मास्क लगायें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे। जिससे कोरोना संक्रमण से बचाव हो सके।

आगामी त्योहारों के आयोजन के विषय में जानकारी देते हुए कलेक्टर ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार दुर्गा प्रतिमाओं की ऊंचाई 6 फीट से अधिक नहीं हो। लगाया जाने वाला पंडाल 10ज्र्10 का हो तथा किसी भी सामाजिक, सांस्कृतिक आयोजन में 100 से अधिक व्यक्ति उपस्थित न रहें। इन आयोजनों के लिये भी जिला प्रशासन से अनुमति लेना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि रात्रि 10 बजे के बाद लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति नहीं होगी तथा गरवा व चल समारोह का आयोजन नहीं होगा। मूर्ति विसर्जन के लिये अधिकतम 10 व्यक्ति जा सकेंगे इसके लिये भी प्रशासन से अनुमति लेनी होगी व सूचना देनी होगी। मूर्ति विसर्जन के दौरान भीड-भाड़ से बचाव के लिये कई स्थानों में विसर्जन कुंड की व्यवस्था करायी जायेगी। बैठक में एडिशनल एसपी शिवकुमार वर्मा, सीएमएचओ डॉ. एमएल गुप्ता, समाजसेवी डॉ. मुकेश येंगल सहित अधिकारी व समिति के सदस्य उपस्थित रहे।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button