snn

Sukanya Samriddhi Yojana: इस योजना के नियम जानकर हो जाएंगे हैरान, बच्ची का भविष्य होगा उज्जवल

Sukanya Samriddhi Yojana : इस योजना के नियम जानकर हो जाएंगे हैरान, बच्ची का भविष्य होगा उज्जवल सरकार ने अपने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं, जिसका फायदा मिलना शुरू हो गया है। ऐसे में अगर आप इसमें निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो पहले बदलावों को जानना जरूरी है।

Sukanya Samriddhi Yojana : वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना से पता चलता है कि सालाना 7.6 प्रतिशत ब्याज दिया जा रहा है। इस योजना के लिए डाकघर या बैंक में निवेश की आवश्यकता है। जैसा कि सुकन्या समृद्धि योजना से देखा जा सकता है, रुपये तक की कर छूट।

खाता डिफ़ॉल्ट नहीं होने जा रहा है,Sukanya Samriddhi Yojana

पिछले नियमों के अनुसार, यदि आप खाते में कम से कम 250/- रुपये प्रति वर्ष जमा नहीं करते हैं, तो खाते में चूक हो सकती है जिससे नुकसान हो सकता है। लेकिन अब मैच्योरिटी तक जमा की गई रकम पर ब्याज दिया जाता है। इससे आप सालाना न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.50 लाख रुपये का निवेश करके लाभ उठा सकते हैं।

बेटी 18 साल की उम्र में अकाउंट मैनेज कर पाएगी

Sukanya Samriddhi Yojana : अभी तक अगर बेटी 10 साल की है तो वह अपने अकाउंट मैनेजमेंट का फायदा उठा सकती है। लेकिन अब बेटियां सुकन्या समृद्धि योजना खाते को संचालित करने के 18 साल बाद ही इसका लाभ उठा सकती हैं। पहले बेटी के अभिभावक के लिए इस अकाउंट को मैनेज करना काफी आसान हो गया था।

तीसरी बेटी के खाते पर मिलती है टैक्स छूट

खाते में पहली दो बेटियां नजर आने पर आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट शुरू हो जाती है। लेकिन अब तीसरी बेटी के जन्म और उसके नाम पर किए गए निवेश को भी आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत छूट दी गई है, जो फायदेमंद हो सकता है। वहीं, दोनों का खाता खुलवाने के बाद भी जुड़वां बेटियां होने का लाभ उठाया जा सकता है।Sukanya Samriddhi Yojana.

1 मई से महंगा हो सकता है गैस सिलेंडर, इन पांच और नियमों में होगा बदलाव, जानिए पूरी डिटेल

खाता बंद करना आसान है,Sukanya Samriddhi Yojana

अब तक सुकन्या समृद्धि योजना को देखा जाए तो बेटी की मृत्यु या पता बदलने के बाद खाता बंद किया जा सकता है। लेकिन अब अगर खाताधारक किसी घातक बीमारी से पीड़ित हैं, तो भी वे खाता बंद करने के बाद भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button