श्रीलंका बोर्ड लंबे समय से महेला जयवर्धने को अंडर-19 टीम का कोच बनाने की कोशिश कर रहा है : अरविंद डी सिल्वा

नई दिल्ली, 9 जुलाई । श्रीलंका के पूर्व कप्तान अरविंद डी सिल्वा ने कहा है कि उनका क्रिकेट बोर्ड लंबे समय से महेला जयवर्धने को अंडर-19 टीम का कोच बनाने की कोशिश कर रहा है भारतीय टीम इस समय श्रीलंका दौरे है। भारतीय टीम को इस दौरे पर तीन एकदिनी और तीन टी-20 मैचों की श्रृंखला खेलनी है। एकदिवसीय श्रृंखला की शुरुआत 13 जुलाई से हो रही है। भुवनेश्वर कुमार को भारतीय टीम का उप-कप्तान बनाया गया है, जबकि शिखर धवन टीम का नेतृत्व करेंगे। दौरे पर भारतीय टीम को पूर्व कप्तान और एनसीए प्रमुख राहुल द्रविड़ कोचिंग देंगे।

अरविंद डी सिल्वा ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,”मुझे लगता है कि भारत ने द्रविड़ को अंडर-19 टीम का कोच नियुक्त कर अच्छा काम किया है। श्रीलंका लंबे समय से महेला जयवर्धने को अंडर-19 को कोचिंग देने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा है लेकिन बोर्ड को सफलता नहीं मिली। मुझे लगता है कि यह वह जगह है जहां नींव है और यदि आप अंडर -19 स्तर पर नींव रखते हैं, तो वहां से वास्तव में प्रगति करना आसान हो जाता है। यहीं से मुझे लगता है कि आप ज्ञान का संचार कर पाएंगे।”

यह भी पढ़ें –  टोक्यो ओलंपिक से 15 दिन पहले खेल मंत्री बने अनुराग ठाकुर

उन्होंने आगे कहा,”यहीं पर आप सही मायने में खुद को अभिव्यक्त कर सकते हैं। आप सभी जानते हैं कि राहुल बहुत अनुशासित व्यक्ति हैं। अंडर-19 खिलाड़ियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि उनका हीरो कोच के रूप में हो ऐसी खबरें आई हैं कि एंजेलो मैथ्यूज ने श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) से कहा है कि वह संन्यास पर विचार कर रहे हैं। ऑलराउंडर पहले ही भारत के खिलाफ श्रृंखला से बाहर हो चुके हैं।

सिल्वा ने कहा,”यह अफ़सोस की बात है कि एंजेलो मैथ्यूज ने इस स्तर पर संन्यास लेने का फैसला किया है। मैं उन्हें ऐसे व्यक्ति के रूप में देखता हूं जिन्होंने श्रीलंका क्रिकेट में बहुत योगदान दिया है। मैं नहीं चाहूंगा कि कोई सीनियर सदस्य इस तरह से टीम छोड़े। अब समय आ गया है कि खिलाड़ी इन मुद्दों को एक तरफ रख कर भविष्य की ओर देखें। बहुत सी चीजें हैं जो वह श्रीलंका को दे सकते थे और उन्हें उस तरह की भावना, चरित्र दिखाना चाहिए था और उन्हें स्थिति को सही तरीके से संभालना चाहिए था।”

यह भी पढ़ें – विंबलडन 2021 से बाहर हुई सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की मिश्रित युगल जोड़ी

अर्जुन रणतुंगा की भारत की व्हाइट-बॉल टीम को ‘दूसरे स्तर’ की टीम कहने की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए, डी सिल्वा ने कहा, “भारत कर पास बहुत बड़ी क्रिकेटिंग प्रतिभा है। किसी भी पक्ष को दूसरे स्तर का कहना कोई तरीका नहीं है। यदि आप खिलाड़ियों को संभालने के मौजूदा तरीके को देखें, तो दुनिया भर में एक आधार है, और खिलाड़ियों का बायो बबल्स में रहना बहुत चुनौतीपूर्ण हो गया है, यह आसान नहीं है बता दें कि श्रीलंकाई क्रिकेट टीम को हाल ही में इंग्लैंड दौरे पर एकदिवसीय श्रृंखला में 3-0 से और टी-20 श्रृंखला में 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button