Vastu के अनुसार घर में मंदिर बनवाते वक्त रखना चाहिए इसका ध्यान, नहीं होगी सुख समृद्धि कोई कमी

According to Vastu, care should be taken while building a temple at home, there will be no shortage of happiness and prosperity

कई बार मेहनत का सही परिणाम नहीं मिलता। बहुत मेहनत करने के बाद सफलता की जगह असफलता मिलती है। साथ ही आपकी खुशी शांति में बाधा डालने लगती है। यह आपके घर में पारिस्थितिक दोष का संकेत है।

हिंदू धर्म में भगवान के मंदिर को विशेष महत्व दिया जाता है। कई लोग अपने घरों में मंदिर बनाते हैं। हालांकि घर में भगवान के मंदिर का अपना एक खास स्थान होता है।

हर कोई घर के मंदिर को अपने जैसा ही सजाता है। हिंदू धर्म कहता है कि किसी भी काम को करने से पहले भगवान का स्मरण करना चाहिए और हाथ जोड़कर उनकी पूजा करनी चाहिए।

सही दिशा और स्थान चुनना बहुत महत्वपूर्ण है

आपने देखा होगा कि कई बार पूजा करने पर भी घर में सुख नहीं आता। घर में अशांति का माहौल है। ऐसे में घर में मंदिर स्थापित करने से पहले पारिस्थितिकी के इन नियमों को अच्छी तरह जान लेना बहुत जरूरी है।

घर में मंदिर बनाते या रखते समय सही दिशा और स्थान का चुनाव करना बहुत जरूरी होता है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा नहीं आएगी। घर में हमेशा वास्तु के मुताबिक, अनुसार मंदिर होना चाहिए।

मंदिर उत्तर-पूर्व दिशा में स्थित होना चाहिए

वास्तु के मुताबिक, के अनुसार मंदिर की स्थापना के लिए आपको अपने घर का सबसे शुभ स्थान उत्तर-पूर्व दिशा में चुनना चाहिए। भगवान के मंदिर को रखने का यह सबसे अच्छा तरीका है।

इसी के साथ फोटो की पूजा के दौरान मूर्ति का मुंह पूर्व की ओर रखना चाहिए. यदि आप अपना मुंह पूर्व की ओर नहीं रख सकते हैं, तो पश्चिम की ओर भी अच्छा है।

जब आप इन दोनों ओर मुख करके पूजा पाठ करते हैं, तो आप ध्यान से पूजा कर सकते हैं।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button