धनतेरस पर खरीदें यह पांच चीजें, नहीं होगी साल भर धन की कमी

Buy these five things on Dhanteras, there will be no shortage of money throughout the year

धनतेरस में भक्त देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने की पूरी कोशिश करते हैं। लेकिन ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यहां बताए गए कुछ आसान से टिप्स से ही मां लक्ष्मी आप पर प्रसन्न हो सकती हैं।

जी हां इसके लिए आपको कुछ विशेष करने की आवश्यकता नहीं है बल्कि कुछ विशेष करने की आवश्यकता नहीं है बल्कि कुछ 5 चीजें हैं, जिन्हें आपको धनतेरस के दिन खरीदना होगा। तो फिर देखिए मां लक्ष्मी की कृपा से आपके जीवन में कैसे शुरू होगी पैसों की बारिश…

धनतेरस के दिन आपको कुमकुम खरीदना है। फिर इसे मां लक्ष्मी के चरणों में समर्पित करें और इसे स्वयं लगाएं। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी बहुत प्रसन्न होती हैं और उनके जीवन को धन से भर देती हैं।

धनतेरस के दिन मां लक्ष्मी के पचिह्न जरूर खरीद लाएं। इसे घर के मुख्य द्वार पर लगाएं। ऐसा माना जाता है कि देवी लक्ष्मी अपने पैरों के निशान रखने से बहुत खुश होती हैं क्योंकि उन्हें घर में आमंत्रित किया जाता है। लेकिन याद रखें कि देवी लक्ष्मी के प्रतीक की पूजा अवश्य करनी चाहिए। साथ ही मां से घर पर रहने की प्रार्थना भी करें।

धनतेरस के दिन से ही दीप जलाने की प्रथा शुरू हो गई थी। इसलिए इस दिन पांच रुपये का दीपक खरीदकर भोजन के बाद दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके जलाएं। हालांकि, सुनिश्चित करें कि जलने के बाद आपको पीछे मुड़कर नहीं देखना है। ऐसा माना जाता है कि यह दीपक घर के लोगों को अकाल मृत्यु से बचाता है और उन्हें स्वस्थ रखता है।

धनतेरस के दिन बेशक साबुत धनियां खरीदकर देवी लक्ष्मी और भगवान धन्वंतरि के चरणों में अर्पित करें। इसके बाद लक्ष्मी माता और भगवान धन्वंतरि के सामने घी का दीपक जलाएं। फिर माता के चरणों में धनियां अर्पित करें और धनिये को घर के सभी सदस्यों में आरती के बाद प्रसाद के रूप में बांटें।

धनतेरस के दिन पवन चक्कियों जैसे धनिया, दीपक, आड़ू और कुमकुम खरीदना बहुत जरूरी है। ऐसा माना जाता है कि यह देवी लक्ष्मी का प्रिय भोजन है। लेकिन याद रखें कि रंगीन हवा की जगह सफेद हवा ही खरीदें। फिर इसे देवी लक्ष्मी को समर्पित करें। इसी के साथ मां से प्रार्थना करें कि उनकी कृपा जीवन भर बनी रहे.

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button