हम यादव है सिंघिया नही जो बिक जायेगे, अरुण यादव ने अटकलों में लगाया विराम

भोपाल : खंडवा लोकसभा सीट से पूर्व सांसद व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहे अरुण यादव इन दिनों सुर्खियों में बने हुए हैं दरअसल मध्यप्रदेश के खंडवा लोकसभा सीट पर जल्दी उपचुनाव होने वाले इस सीट से अरुण यादव की तगड़ी दावेदार मानी जा रही है लेकिन कहीं ना कहीं प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ इससे सहज नहीं है यही कारण है कि कहीं ना कहीं अरुण यादव की पार्टी के प्रति नाराजगी की खबरें सामने आ रही थी हाल ही में वह कमलनाथ द्वारा बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं थे जिसके बाद प्रदेश में इस बात की चर्चा जोरों पर थी कि अब अरुण यादव भी पार्टी बदल सकते हैं

बता दें कि इन सब के बीच आज अरुण यादव ने एक ट्वीट किया जो सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है अरुण यादव ने ट्वीट करते हुए बड़ी बात कही है इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस में रहे दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी तंज कसा उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि मेरे शरीर व परिवार के रक्त के एक-एक बूंद में कांग्रेस विचारधारा का प्रभाव होता है मुझ सहित समूचे परिवार के नाम के आगे यादव लिखा जाता है सिंधिया नहीं अलगाववादी ताकतों को मुंह की खानी पड़ेगी बताते चलें कि सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद कांग्रेसी नेता सिंधिया के घेराव में जुटे हुए हैं लेकिन अरुण यादव ने आज ट्वीट करके यह बात साफ कर दी है वह कांग्रेस पार्टी में ही रहेंगे

वही मालूम हो कि अरुण यादव की कथित नाराजगी की कई वजह है प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि सर्वे के आधार पर टिकट दिया जाएगा जबकि अरुण यादव खंडवा के जमीनी नेता है वे यहां सांसद रहे हैं केंद्रीय मंत्री भी बने उनका प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का साढ़े 4 साल का कार्यकाल रहा अगर उन्हें चुनाव में उतरने का आश्वासन मिलता तो वह तैयारी में जुट जाते अब जो वक्त तैयारी का है संगठन उसे अंदरूनी सियासत में जाया कर रहा है

वहीं इस मामले में अरुण यादव ने कहा था कि मैं फिलहाल क्षेत्र में हूं जनता की सेवा में लगा हूं लेकिन मैं भी चाहता हूं कि खंडवा का टिकट सर्वे से तय होना चाहिए सर्वे में जिसका भी नाम आए पार्टी उसे प्रत्याशी बनाए उन्होंने पार्टी स्तर पर मतभेद से इंकार कर दिया

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button