मुख्यमंत्री का नाम तक नहीं लेते शिवराज के मंत्री, बड़े कार्यक्रम में इस मंत्री ने एक बार भी नहीं लिया नाम

Shivraj's ministers do not even take the name of the Chief Minister, this minister did not take the name even once in the big program

सिंगरौली । मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के मंत्री ने तक़रीबन 10 मिनट का भाषण दिया लेकिन मंत्री जी ने मुख्यमंत्री का नाम तक लेना मुनासिब नहीं समझा पीएम का नाम दो बार लिया लेकिन कांग्रेस से भाजपा में आये मंत्री बिसाहूलाल ने अपने उद्बोधन में सिर्फ मुख्यमंत्री बोला शिवराज सिंह बोलना या तो मुनासिब नहीं समझा या बोलना नहीं चाहते थे

मामला आज मध्यप्रदेश के सिंगरौली में सामने आया जहा शिवराज में मंत्री बिसाहूलाल सर्कार की एक बड़ी योजना की शुरुआत करने सिंगरौली पहुंचे थे बताते चले की मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार लगातार इस दिशा में प्रयास कर रही है कि प्रदेश से कुपोषण और एनीमिया जैसे कलंक को मिटाया जा सके इसी दिशा में मध्य प्रदेश सरकार ने फोर्टीफाइड चावल वितरण योजना शुरुआत की है पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे प्रदेश के 3 जिले भिंड, अनूपपुर और सिंगरौली में शुरू किया गया है आज इसकी शुरुआत सिंगरौली से खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री ने एक क्लिक के माध्यम से शुरू किया इस दौरान भाजपा सांसद सहित जनप्रतिनिधि बैढन के सामुदायिक भवन में मौजूद रहे

इस चावल के बारे में खाद्य मंत्री ने बताया कि मोदी सरकार ने एक सर्वे में पाया था कि मध्य प्रदेश के सिंगरौली, अनूपपुर, भिंड जिले में एनीमिया से ग्रसित लोगों की संख्या ज्यादा है इसी रिपोर्ट के आधार पर यहां यह योजना शुरू की गई है इस योजना में मिलने वाला चावल राशन की दुकानों के माध्यम से चिन्हित ग्रामीणों को बांटा जाएगा ताकि जहां भी एनीमिया की समस्या है उसे दूर किया जा सके अगर प्रोजेक्ट सफल रहता है तो आने वाले समय में इसे पूरे प्रदेश में जहां-जहां एनीमिया की समस्या है वहां लागू किया जाएगा

बातचीत में खाद्य मंत्री ने यह भी बताया कि सरकार की यह भी बताया कि सरकार की योजना है कि मिलावट रहित खाद्य तेल भी राशन की दुकानों से उपलब्ध करवाया जाए साथ ही मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार इस दिशा में योजना बना रही है कि हितग्राहियों को राशन राशन की दुकान ना आना पड़े बल्कि उनके घर पहुंचाया जा सके

असल में यह पूरी चर्चा कार्यक्रम के बाद शुरू हुई ऑफिस मंत्री जी का भाषण सुनने के बाद इस बात की बहस शुरू हो गई कि आखिर शिवराज सिंह चौहान जो सूबे के मुखिया हैं उनका नाम लेने में आखिर मंत्री जी को क्या दिक्कत थी बाहर हाल सिंधिया समर्थक बिसाहूलाल अगर ऐसा कर रहे थे कोई अचरज की बात नहीं है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button