रतलाम : सरकार पर विश्वास है, लेकिन संघर्ष के लिए तैयार रहें : भोसले

रतलाम, 12 जुलाई। सरकार हर बार संगठनों को विश्वास देती रहती है और संगठनों ने भी सरकार पर विश्वास किया हमें उम्मीद है सरकार पर विश्वास सही होगा लेकिन फिर भी हमें महंगाई महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत को लेकर संघर्ष के लिए तैयार रहना चाहिए, नए रतलाम : सरकार पर विश्वास है, लेकिन संघर्ष के लिए तैयार रहें : भोसले मंत्री से हमें उम्मीद है कोई भी निर्णय संगठनों से लेकर अमल करेंगे!

उपरोक्त विचार वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन के महामंत्री जे आर भोंसले ने दाहोद में 1960 में शहीद हुए शहीदों के श्रद्धांजलि कार्यक्रम को संबोधित करते हुए व्यक्त किए! इस अवसर पर वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन के उपाध्यक्ष श्रीमती सोफिया सुनील हर्ष भी उपस्थित थी! पूर्व कामरेड लक्ष्मीनारायण शर्मा ने 1960 की हड़ताल के बारे में बताते हुए कहा कि महंगाई भत्ते की मांग को लेकर वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन दाहोद कारखाना शाखा के आह्वान पर अपनी न्यायोचित मांगों को लेकर देश की आजादी के बाद प्रथम हड़ताल सन 1960 में दाहोद कारखाने में हुई जिसके पश्चात पूरे देश में विरोध स्वरूप रेल के चक्के जाम कर दिए गए, तथा तत्कालीन सरकार ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दाहोद के निहत्थे कारखाना कर्मचारी नेता अमर शहीद खदेरन, सखाराम, कृपाशंकर, सीताराम , रणजीत सिंह को गोली मारी सभी शहीद हो गए और इस दिन को 12 जुलाई 1960 को ‘दाहोद के शहीदों अमर रहो के पुण्य स्मरण के साथ भारतीय रेलवे पर मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें –  MP : शिक्षा मंत्री के बंगले के बाहर प्रदर्शन, ये हैं मांग

दाहोद कारखाना के सचिव संजय कपूर ने बताया कि शहीदों की याद में शहीद भवन पर प्रतिवर्ष कार्यक्रम आयोजित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाती है लेकिन इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण कार्यक्रम सीमित किया गया सिर्फ श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया। दाहोद मेडिकल एवं इलेक्ट्रिकल ब्रांच द्वारा कामरेड जे.आर .भोंसले को फेडरेशन का कार्यकारी अध्यक्ष मनोनीत किए जाने पर दाहोद प्रथम आगमन पर ब्रांच द्वारा साल श्रीफल से सम्मानित किया गया।

सेंट्रल गवर्नमेंट एवं रेलवे पेंशनर एसोसिएशन रतलाम द्वारा शहीदों को श्रद्धांजलि प्रदान की गई, वरिष्ठ सलाहकार कामरेड गोविंदलाल शर्मा अध्यक्ष प्रकाश व्यास , कामरेड एच एन जोशी, कामरेड आई एल पुरोहित, कामरेड शांतिलाल शर्मा, कामरेड रामखेलावन कुमायूं ने कहा कि जिस महंगाई भत्ते/ राहत की मांग को लेकर जो साथी शहीद हुए आज उसी महंगाई भत्ते के लिए हम संघर्षरत है हमें आशा है सरकार सितंबर में इस पर निर्णय लेगी।

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button