मप्र: शिवराज जी किस मुंह से झूठी घोषणाएं करने की हिम्मत कर लेते हैं : कमलनाथ

किस मुँह से यहां आकर फिर झूठी घोषणाएं करने व झूठे नारियल फोड़ने की हिम्मत लेते है?, चुनाव को देखते हुए शिवराज जी से कुछ भी बुला लो क्योंकि इनको तो बस अपनी कुर्सी बचाना है।यह तो जहां नदी भी नही होती, वहाँ भी पुल बनाने की घोषणा कर देते हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि आप यह तस्वीर देख कर ही फैसला करेंगे। आप जो बटन दबायेंगे, वह सिर्फ़ कांग्रेस या राज नारायण सिंह का नहीं होगा बल्कि इस क्षेत्र के भविष्य के लिए होगा। आप कमलनाथ को, कांग्रेस को देखकर वोट भले मत देना लेकिन सच्चाई की तस्वीर देखकर, सच्चाई को वोट ज़रूर देना। मुझे पूरा विश्वास है कि यहां का परिणाम एक संदेश के रूप में होगा।

खंडवा/भोपाल, 21 अक्टूबर (हि.स.)। ‘देवास ज़िले का पुंजापुरा इलाक़ा जहां पिछले 60 वर्षों से भाजपा जीतती आयी है, मुझे यहां की दशा देखकर आश्चर्य हो रहा है कि नर्मदा किनारे होने के बावजूद यहां पानी का संकट, न उद्योग, न विकास, न रोज़गार। रोज़गार के अभाव में लोगों का पलायन जारी, आज भी यह क्षेत्र विकास की दृष्टि से उपेक्षित? मुझे ताज्जुब होता है कि जिन शिवराज जी को विकास के मामले में आपको धोखा देने के लिये माफ़ी मांगना चाहिए, वो किस मुँह से यहां आकर फिर झूठी घोषणाएं करने व झूठे नारियल फोड़ने की हिम्मत लेते है?

यह बात बुधवार को खंडवा लोकसभा क्षेत्र के बाग़ली विधानसभा के पुंजापुरा में पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कही। उन्होंने खंडवा लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी राजनारायण सिंह पूरनी के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि शिवराज जी की कुर्सी तो 2 नवंबर को जाना तय है, इसलिये वो तो झूठ परोसकर सिर्फ़ अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि शिवराज जी बागली को जिला बनाने की घोषणा कितनी बार कर चुके हैं, यह सब आपसे छुपा नहीं है। आज पांधना में पानी नहीं है, रोज़गार नहीं है, क्षेत्र उपेक्षित है। यहाँ की जनता शिवराज जी से 17 वर्षों का हिसाब माँग रही है। आज दो लोगों की जोड़ी है एक प्रदेश में एक्टर और दूसरा देश में डायरेक्टर, इन्हें हमें पहचानना है। इन उपचुनावों से कोई सरकार बनना, बिगड़ना नहीं है। यह चुनाव तो एक संदेश के रूप में होंगे।

उन्होंने कहा कि यह कोरोना काल के बाद का चुनाव है, 26 मार्च 2020 को मोदी जी ने 20 लाख करोड़ की घोषणा की थी। देवास क्षेत्र में भी लगभग 7 हज़ार लोगों की मृत्यु हुई। आक्सीजन, रेमड़ेसिविर की कमी से कितनी मौतें हुई, यह आप सभी को पता है। किसी को भी एक रुपयें का मुआवज़ा मिला क्या? आज का नौजवान कोई ठेका या कमीशन नहीं चाहता है, वह तो व्यवसाय का मौका चाहता है, अपने हाथों को काम चाहता है, यही नौजवान देश का प्रदेश का नव निर्माण करेंगे, मुझे आज चिंता इन नौजवानो की है।

कमलनाथ ने कहा कि हमें काम करने के लिए सिर्फ़ साढ़े 11 माह मिले। जब मैंने सरकार संभाली तो सबसे बड़ी चुनौती कृषि क्षेत्र की थी। हमारे प्रदेश की 70 प्रतिशत अर्थव्यवस्था कृषि क्षेत्र पर आधारित है। हमने कृषि क्षेत्र में क्रांति लाने की शुरुआत की। आज जब यहाँ आया तो देखा कि बोर्ड लगे हैं कि पानी नहीं तो वोट नहीं।यह हमारी गलती तो नहीं, प्रदेश में पिछले 17 वर्ष से किसकी सरकार रही है, यह तो उनकी कमी है। मैंने तो इस क्षेत्र के लिये सिंचाई की परियोजनाए बनायी।

उन्होंने कहा कि देवास में 1 लाख 15 हज़ार किसानों की हमने कर्ज माफी की, खंडवा में हमने 58 हज़ार किसानो की क़र्ज़माफ़ी की, इसके गवाह तो किसान खुद है। हमने ना केवल डिफाल्टर बल्कि चालू खाता वालों का भी कर्ज माफ किया क्योंकि हमें किसानों की आर्थिक मजबूती बनाना थी। हमने किसान क़र्ज़ माफ़ी का दूसरा चरण चालू ही किया था कि हमारी सरकार गिरा दी गयी।हमने पहले चरण में 27 लाख किसानो का क़र्ज़ माफ़ किया।

मप्रः कमलनाथ बूढ़े तो हो गए पर दुर्भाग्य से बड़े तो नहीं हो पाए

उन्होंने कहा कि आज मक्के का क्या भाव है, हमारी सरकार के समय 2100 और आज 800 और शिवराज जी तो कहते हैं मैं तो किसान का बेटा हूं। कभी मामा बन जाते हैं, कभी किसान का बेटा बन जाते हैं। आज इन्हीं की सरकार में महिलाओं पर सबसे ज्यादा अत्याचार होते हैं, कितने कलाकार हैं। आज रोजगार निवेश से आता है, निवेश आता है विश्वास से। हम 5 प्रदेशों से घिरे हैं, फिर भी यहाँ निवेश क्यों नही आता है क्योंकि शिवराज सरकार में विश्वास का अभाव है। शिवराज सरकार में व्यवस्था है कि पैसे दो, काम कराओ।

शिवराज का कमलनाथ पर पलटवार, कफ़न के 5 हजार रुपए छीन लिए कन्यादान के 51 हजार नहीं दिए झूठा मैं कि कमलनाथ

उन्होंने कहा कि चुनाव को देखते हुए शिवराज जी से कुछ भी बुला लो क्योंकि इनको तो बस अपनी कुर्सी बचाना है।यह तो जहां नदी भी नही होती, वहाँ भी पुल बनाने की घोषणा कर देते हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि आप यह तस्वीर देख कर ही फैसला करेंगे। आप जो बटन दबायेंगे, वह सिर्फ़ कांग्रेस या राज नारायण सिंह का नहीं होगा बल्कि इस क्षेत्र के भविष्य के लिए होगा। आप कमलनाथ को, कांग्रेस को देखकर वोट भले मत देना लेकिन सच्चाई की तस्वीर देखकर, सच्चाई को वोट ज़रूर देना। मुझे पूरा विश्वास है कि यहां का परिणाम एक संदेश के रूप में होगा। यह संदेश भाजपा व शिवराज जी के लिए होगा कि हम भोले-भाले हैं, गरीब हैं, सीधे हैं लेकिन हम मूर्ख नहीं है

कमलनाथ जी मुंगेरीलाल हो गए हैं वे दिन में भी सपने देखते हैं – विष्णुदत्त शर्मा

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button