मप्रः मैं जनता के बीच जाता हूं तो कलमनाथ जी को तकलीफ होती हैः शिवराज

मैंने शासकीय सेवकों का डीए बढ़ाकर 20% कर दिया और पिछला बकाया भी दो किस्तों में दे रहा हूं। स्व-सहायता समूह से जुड़ी मेरी बहनों की आमदनी प्रतिमाह 10 हजार रुपये करने के लिए हम प्रयासरत हैं। स्कूल में बच्चों की यूनिफार्म की सिलाई का जिम्मा भी इन बहनों को दिया गया है। मैं जनता के बीच में जाता हूं, तो कमलनाथ जी को तकलीफ होती है।

भोपाल, 22 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं जनता के बीच में जाता हूं, तो कमलनाथ जी को तकलीफ होती है। वे मुख्यमंत्री बने तो वल्लभ भवन में ही सो गये, न कहीं आना, न जाना, वहीं पड़े रहते थे। हमारे दिल में जनता के कल्याण की तड़प है, तो हम जनता के बीच रहते हैं। फसल बीमा योजना के प्रीमियम का 2200 करोड़ रुपया कांग्रेस की सरकार ने जमा नहीं किया था। कोविड-19 की चुनौती के बीच हमने उसे जमा कर किसानों के खाते में 3100 करोड़ रुपये जमा कराये।

मुख्यमंत्री चौहान शुक्रवार को निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम दिगौड़ा में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को धन्यवाद देता हूं कि 100 करोड़ लोगों को आज तक टीका लगाया जा चुका है। यह हमारे प्रधानमंत्री जी का नेतृत्व ही है, जिसके कारण स्वदेशी वैक्सीन निर्मित हुई और आज देश के नागरिक सुरक्षित हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 15 महीने में कमलनाथ जी ने प्रदेश को तबाह और बर्बाद कर दिया। उन्होंने किसानों, युवाओं, बहनों को झूठा आश्वासन देकर छलने का काम किया। न किसानों का कर्जा माफ हुआ, न युवाओं को बेरोजगारी भत्ता मिला और न बहनों को योजनाओं का लाभ। कोरोना काल में आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर भी मैंने न वेतन रोका न विकास थमने दिए।

उन्होंने कहा कि कल ही मैंने शासकीय सेवकों का डीए बढ़ाकर 20% कर दिया और पिछला बकाया भी दो किस्तों में दे रहा हूं। स्व-सहायता समूह से जुड़ी मेरी बहनों की आमदनी प्रतिमाह 10 हजार रुपये करने के लिए हम प्रयासरत हैं। स्कूल में बच्चों की यूनिफार्म की सिलाई का जिम्मा भी इन बहनों को दिया गया है। मैं जनता के बीच में जाता हूं, तो कमलनाथ जी को तकलीफ होती है। वे मुख्यमंत्री बने तो वल्लभ भवन में ही सो गये; न कहीं आना, न जाना। हमारे दिल में जनता के कल्याण की तड़प है, तो हम जनता के बीच रहते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने गरीब बहनों के लिए योजना शुरू की थी कि बेटा-बेटी के जन्म से पहले 4 हजार रुपये और जन्म के बाद 12 हजार रुपये यानी कुल 16 हजार रुपये देंगे, लेकिन कमलनाथ ने इसे बंद कर दिया था। हमने इसे दोबारा शुरू किया है। हमने तय किया था कि हमारे गरीब परिवारों के बेटा-बेटियों का एडमिशन मेडिकल, इंजीनियरिंग और आईआईएम जैसे संस्थानों में होगा, तो उनकी फीस हमारी सरकार भरवायेगी। कमलनाथ जी ने हमारे भांजे-भांजियों की फीस भी भरवाना बंद करने का पाप किया।

उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों में सदस्यों की संख्या बढ़ने पर हर परिवार को अलग-अलग पट्टे की जमीन दी जाएगी और उन्हें घर का मालिक बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर सहायता योजना के तहत तहत स्ट्रीट वेंडर को 10 हजार रुपये का ऋण बिना ब्याज के दे रहा हूं।

शराब बांट रही कांग्रेस, धमकी दे रहे अपराधी- भाजपा ने की आयोग से शिकायत

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्व सहायता समूह की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के 2500 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। मेरे भाइयों-बहनों, आप सबसे निवेदन करने आया हूं कि भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार शिशुपाल जी को अपना आशीर्वाद देकर भारी मतों से विजयी बनाइये। मैं भी आपको विश्वास दिलाता हूं कि जीऊंगा तो आपके लिए, मरूंगा तो आपके लिए।

मुख्यमंत्री शिवराज का पलटवार कहा मैं विकास के काम करता हू तो नारियल फोड़ता हूं

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button