खाद को लेकर विधायक किसानों के साथ बैठे कलेक्ट्रेट गेट पर

कांग्रेस पार्टी के बांदा विधायक तरवर सिंह लोधी के साथ बड़ी संख्या में पहुंचे कांग्रेस नेता और किसान कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर जमीन पर बैठ कर नारेबाजी की. पहले तो सिटी मजिस्ट्रेट सीएल वर्मा ने विधायक से संपर्क किया, लेकिन विधायक ने उन्हें सीधे कलेक्टर से बात करने के लिए कह कर वापस भेज दिया. उसके बाद अपर कलेक्टर अखिलेश जैन विधायक के पास पहुंचे और उनकी समस्याएं सुनकर जमीन पर बैठ गए

सागर, 25 अक्टूबर । सागर जिले में सोमवार को कलेक्ट्रेट में खाद की समस्या से जूझ रहे किसानों का गुस्सा फूट पड़ा. बांदा क्षेत्र में खेत में जुताई करने के बाद खाद को लेकर परेशान किसान विधायक को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे. जहां उन्होंने कलेक्ट्रेट के गेट नंबर 2 के पास नारेबाजी की.

कांग्रेस पार्टी के बांदा विधायक तरवर सिंह लोधी के साथ बड़ी संख्या में पहुंचे कांग्रेस नेता और किसान कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर जमीन पर बैठ कर नारेबाजी की. पहले तो सिटी मजिस्ट्रेट सीएल वर्मा ने विधायक से संपर्क किया, लेकिन विधायक ने उन्हें सीधे कलेक्टर से बात करने के लिए कह कर वापस भेज दिया. उसके बाद अपर कलेक्टर अखिलेश जैन विधायक के पास पहुंचे और उनकी समस्याएं सुनकर जमीन पर बैठ गए.

विधायक ने उन्हें सभी समस्याओं से अवगत कराया और कलेक्टर दीपक आर्य को ज्ञापन सौंपने को कहा. जिसके बाद कलेक्टर दीपक आर्य मौके पर पहुंचे और विधायकों व कांग्रेस नेताओं से खाद बीज की समस्या को सुनकर 24 घंटे के भीतर खाद देने का आश्वासन दिया. जिसके बाद विधायक ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा और उम्मीद जताई कि वह जल्द से जल्द बांदा सागर जिले के हर किसान तक पहुंचने की व्यवस्था करेंगे.

आरोप, उपचुनाव वाले क्षेत्रों में भेजा गया खाद

बांदा क्षेत्र में खाद की समस्या को लेकर क्षेत्रीय किसानों ने बांदा विधायक तरवर सिंह लोधी के साथ कलेक्ट्रेट पर धरना दिया. धरने के दौरान बांदा विधायक ने कहा कि बांदा-शाहगढ़ के ग्रामीण अंचलों में डीएपी खाद की कमी से कृषि कार्य बाधित हो रहा है. कथित तौर पर बांदा क्षेत्र में आवंटित खाद को भाजपा नेताओं के निर्देश पर उपचुनाव विधानसभा क्षेत्र में भेज दिया गया है. जिससे यहां खाद की कमी है।

तो होगा हंगामा

खाद के अभाव में किसान बुवाई नहीं कर पा रहे हैं। कुछ लोग खाद की कालाबाजारी कर रहे हैं। वहीं विधायक ने मांग की कि किसान फीडर के लिए रात में 10 घंटे किसानों को जो बिजली दी जा रही है वह दिन में दी जाए. किसानों के साथ-साथ विधायकों ने चेतावनी दी है कि अगर तीन दिनों के भीतर डीएपी उर्वरक की आपूर्ति नहीं की गई तो विधानसभा क्षेत्र की सभी सड़कों को अवरुद्ध कर दिया जाएगा।

आश्रम -3 के सेट पर बजरंगदल ने की तोड़फोड़ , निर्देशक प्रकाश झा पर फेंकी स्याही

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button