केजरीवाल को नामांकन करने एसई रोकने केई लिए उम्मीदवारों की भीड़ उमड़ी थी?

नई दिल्ली (एस.एन.एन)।।दिल्ली में विधानसभा चुनाव का ऐलान होते ही बयानबाजियां और सोशल मीडिया चकल्लस शुरू हो गई। एक दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलने लगा। राजनीतिक उठापटक भी देखने को मिली. लेकिन नामांकन के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ कुछ ऐसा हुआ,जो शायद ही पहले किसी मुख्यमंत्री का साथ हुआ हो। अरविंद केजरीवाल पहले तो खुद के रोड शो के चलते नामांकन दाखिल नहीं कर पाए, लेकिन दूसरे दिन भी उन्हें नामांकन ऑफिस में 7 घंटे का इंतजार करना पड़ा।

सीएम अरविंद केजरीवाल को कई घंटों का इंतजार इसलिए करना पड़ा, क्योंकि अचानक से नई दिल्ली विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल करने वालों की बाढ़ सी आ गई।केजरीवाल को शायद ही इस बात का अंदाजा हो कि उनसे पहले रिटर्निंग ऑफिस (आरओ) में कई उम्मीदवार नामांकन दाखिल करने बैठे होंगे।

केजरीवाल को नामांकन करने एसई रोकने केई लिए उम्मीदवारों की भीड़ उमड़ी थी?

अब सबसे बड़ा सवाल ये है कि आखिर नई दिल्ली विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल करने वाले उम्मीदवारों का हुजूम कहां से उमड़ पड़ा। इसका जवाब तो शायद ही कोई दे पाए, लेकिन आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इसे बीजेपी की भेजी हुई भीड़ बताया. सवाल ये भी उठता है कि नामांकन के आखिरी दिन इन सभी निर्दलीय उम्मीदवारों को एक साथ कैसे याद आया कि आज ही नामांकन करना है। इसके पीछे ये भी कोशिश हो सकती है कि वक्त बर्बाद कर केजरीवाल को नामांकन ही न करने दिया जाए, आखिरी तारीख होने के चलते ऐसा होना मुमकिन था।

इस बात से शक और भी ज्यादा गहरा जाता है कि जो लोग नामांकन के लिए पहुंचे थे, उनके दस्तावेज भी पूरे नहीं थे, जिससे वक्त और भी ज्यादा लग रहा था। तो असली सवाल यही है कि क्या चुनाव अधिकारियों को आधे-अधूरे दस्तावेजों से उलझाने की कोशिश की गई?

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button