कमलनाथ ने शिवराज सरकार को ये क्या कह दिया.. पढ़िए

Kamal Nath Accuses MP Government: कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार पर झूठे आश्वासन परोसने और भाषणबाजी करने का आरोप लगाया है, बीते दिनों हुई बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। इस मामले को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को विदिशा जिले में ओला वृष्टि प्रभावित क्षेत्रों का अवलोकन किया और किसानों से चर्चा की। सीएम शिवराज ने किसानों को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया है।

कमलनाथ ने कहा विपक्ष में रहकर बड़ी-बड़ी बातें करते थे मुख्यमंत्री

कमलनाथ ने शनिवार को कहा कि मध्य प्रदेश के बड़े हिस्से में ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से किसानों की फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। बड़ी शर्म की बात है कि एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी अभी भी किसानों को राहत व मुआवजे की बजाय झूठे आश्वासन व भाषण परोसे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि खुद मुख्यमंत्री खराब फसलों की स्थिति को देख चुके हैं, किसानो के बहते आंसू को देख चुके हैं। फ़सलों की इस बर्बादी को देखते हुए सरकार को अविलंब तत्कालिक सहायता के रूप में किसानों को राहत राशि प्रदान करना चाहिए लेकिन अभी भी उन्हें सर्वे, फसल बीमा के नाम पर झूठे आश्वासन व भाषण परोसे जा रहे हैं।

अभिनेत्री Sara Ali Khan ने माँ अमृता के साथ किये महाकाल के दर्शन

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि पिछली बार भी जो फसलें खराब हुई थी, उस समय भी इसी प्रकार झूठे आश्वासन, लंबे चौड़े भाषण परोसे गए थे लेकिन उन पीडि़त किसानों को भी आज तक ना पूर्ण मुआवजा मिला, ना फसल बीमा की राशि मिली है। विपक्ष में रहकर जो खराब फसलों को लेकर लंबे चौड़े भाषण देते थे, बड़ी-बड़ी बातें करते थे वह आज किसानों को राहत की बजाय सिर्फ़ झूठे आश्वासन व भाषण ही परोस रहे हैं।

दो दिन बाद फिर मध्य प्रदेश में बादल डाल सकते हैं डेरा, ठिठुरन से मिलेगी राहत

कमलनाथ ने तंज कसते हुए कहा कि मध्यप्रदेश का किसान पहले से ही खाद के संकट, बिजली के संकट से परेशान होकर कर्ज के दलदल में फँसता जा रहा है, ऐसे में इस संकट ने किसानो की परेशानी को और बढ़ा दिया है। रबी सीजन की एक लाख हेक्टेयर से अधिक फ़सल खऱाब हो चुकी है, किसानों का करोड़ों का नुकसान हो चुका है। किसान अभी भी राहत व मुआवजे के लिए सरकार की तरफ उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे हैं और उसे बदले में सिर्फ़ झूठे दिलासे व आश्वासन ही मिल रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button