snn

‘होठों को चूमना, प्यार से छूना unnatural crime नहीं’, बॉम्बे हाईकोर्ट ने यौन शोषण के आरोपी को दी जमानत….

होठों पर किस करना और किसी को प्यार से छूना कोई unnatural crime नहीं है। इस दलील में बॉम्बे हाईकोर्ट ने नाबालिग लड़के का यौन शोषण करने के आरोपी एक शख्स को जमानत दे दी. इस व्यक्ति को पिछले साल एक 14 वर्षीय लड़के के पिता के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, लड़के के पिता ने पाया कि उसकी अलमारी में पैसे नहीं थे। लड़के ने उन्हें बताया कि उसने आरोपी को पैसे दिए हैं। नाबालिग ने कहा कि वह मुंबई के उपनगर में आरोपी की दुकान पर ऑनलाइन गेम ‘ओला पार्टी’ का रिचार्ज कराने जाता था।

लड़के ने आरोप लगाया कि एक दिन जब वह रिचार्ज करने गया तो आरोपी ने उसके होठों पर किस किया और उसके गुप्तांगों को छुआ। इसके बाद, लड़के के पिता ने आरोपी के खिलाफ बाल यौन अपराध संरक्षण (POCO) अधिनियम की संबंधित धारा और भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 377 के तहत पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई।

unnatural crime :

धारा 377 के तहत संभोग या कोई अन्य unnatural crime दंडनीय अपराध है। इसके तहत अधिकतम सजा आजीवन कारावास है और जमानत मिलना मुश्किल हो जाता है। जस्टिस प्रभुदेसाई ने आरोपी को जमानत देते हुए कहा कि लड़के का मेडिकल परीक्षण उसके यौन उत्पीड़न के आरोप का समर्थन नहीं करता है। उन्होंने कहा कि आरोपी के खिलाफ लगाई गई बाल यौन अपराध संरक्षण (पोक्सो) धाराओं के तहत अधिकतम सजा पांच साल हो सकती है और उसे जमानत दी जा सकती है।

unnatural crime :

कोर्ट ने कहा कि मौजूदा मामले में असामान्य सेक्स का मुद्दा प्राथमिक रूप से लागू नहीं होता. उच्च न्यायालय ने कहा कि आरोपी पहले ही एक साल से हिरासत में हैं और जल्द सुनवाई की संभावना नहीं है।

Mahindra Cars Price April 2022: महज 2 मिनट में पढ़ें महिंद्रा की सभी 10 गाड़ियों की नई कीमतें

हाईकोर्ट ने कहा, “उपरोक्त तथ्यों और परिस्थितियों को देखते हुए याचिकाकर्ता जमानत का हकदार है।” साथ ही आरोपी को 30 हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी गई।

NPS : पत्नी के नाम से आज ही खुलवाएं ये स्पेशल अकाउंट, हर महीने मिलेंगे 51,848 रुपये; जानिए तरीका

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button