snn

Taj Mahal Controversy: कारीगरों के वशंजों ने किया खुलासा, क्या है ताजमहल के 20 कमरें का राज?

Taj Mahal विवाद: कहा जाता है कि Taj Mahal बनाने वाले शिल्पकारों की पीढ़ी के लोग आज भी आगरा में रहते हैं। उनमें से एक, हाजी ताहिरुद्दीन, Taj Mahal के शिल्पकारों से जुड़ा बताया जाता है। अब वे हाथ से पत्थर तराशने का काम करते हैं। 80 वर्षीय ताहिरुद्दीन Taj Mahal के मार्गदर्शक भी रहे हैं।

Taj Mahal के बंद कमरों का राज आज पूरे देश में चर्चा में है. ऐसे में ताजमहल के कारीगरों में से एक के वंशज ने 20 बंद कमरों का राज खोला है.  ZEE NEWS के साथ उन्होंने इस ऐतिहासिक इमारत से जुड़ी कुछ प्राइवेसी को हटा दिया है. नीचे दिए गए सभी बिंदु ताहिरुद्दीन के अनुसार हैं-

Taj Mahal के 20 कमरों का रहस्य

ताजमहल के बीस कमरे आजकल चर्चा में हैं जो मकबरे के नीचे बने हैं। यह ए एस आई की तरह इस्तेमाल करता है. कमरे पहले जूते रखने के काम आते थे. लेकिन फिर भीड़ बढ़ने लगी, इसे बंद कर दिया गया. एएसआई बीच-बीच में खोल कर इसका सफाई करती है.

ताजमहल एक कुएं पर बना है

यह सच है। कुएं का पानी संगमरमर को ठंडा रखता है और इसमें मिलाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला चूना मजबूत होता है। कुएं आपस में जुड़े हुए हैं। पानी ओवरफ्लो नहीं होता है। यह पास के जमुना से जुड़ा हुआ है।

क्या कारीगरों के हाथ कट गए हैं?

यह सच नहीं है, उन्हें हाथ काटने के समझौते के बारे में बताया गया था। शाहजहां ने कहा कि अब आप लोग दूसरा ऐसा कुछ न बनाए. आपका पूरा ख्याल हम रखेंगे. साउथ गेट पर कुछ परिवारों को बसाया गया।

मैंने ताजमहल को पूरी तरह से देखा है

वे 22 कमरे कभी नहीं खोले गए। 1932 में, कुछ ब्रिटिश लोगों ने उन घरों को देखा, मैंने सुना। एएसआई  कोई जोखिम नहीं लेना चाहता। तो मत खोलो। जब ताजमहल पहली बार खोला गया था, वहां कमरे और शौचालय थे।

Matka Kulfi : मटका कुल्फी सिर्फ 2 मिनट में कैसे बनाएं

मिलते हैं हिंदू चिन्ह

वहां हिंदू चिन्ह मिलते हैं. चारों ओर परिक्रमा पथ बना है जो केवल मंदिरों में होता है. ऐसा लगता है कि दीवारों से कमरों को बंद किया गया है. एएसआई वहां उत्खनन कर सकता है. ज्यामितीय सिमिट्री आपको हर जगह मिलेगी. लेकिन कब्रों के पास नहीं है. ताजमहल में राम, मोहन जैसे नाम खुदे हु़ए मिलते हैं. कोर्ट कमिश्नर की देख रेख में सर्वे होना चाहिए.

MP में निकाय elections पर ‘सुप्रीम’ फैसला: OBC आरक्षण के बिना ही पंचायत-निकाय इलेक्शन होंगे, CM बोले- रिव्यू पिटीशन लगाएंगे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button