Indian Railways : अगर खो जाए ट्रेन का टिकट तो क्या करे ? जानिए ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए

भारतीय रेलवे टिकट: अगर आप ट्रेन से यात्रा करते हैं, तो यह खबर सिर्फ आपके लिए है। अगर आपकी ट्रेन का टिकट यात्रा से पहले या यात्रा के दौरान अचानक कहीं खो जाता है, तो क्या आप बिना टिकट के यात्रा कर सकते हैं? यह एक ऐसा सवाल है जो मुश्किल लगता है लेकिन इसका जवाब बहुत आसान है। हमें बताएं कि इस विकट परिस्थिति में आपको क्या करना चाहिए।

नई दिल्ली, 9 नवंबर | भारतीय रेलवे टिकट: अगर आप ट्रेन से यात्रा करते हैं, तो यह खबर सिर्फ आपके लिए है। अगर आपकी ट्रेन का टिकट यात्रा से पहले या यात्रा के दौरान अचानक कहीं खो जाता है, तो क्या आप बिना टिकट के यात्रा कर सकते हैं? यह एक ऐसा सवाल है जो मुश्किल लगता है लेकिन इसका जवाब बहुत आसान है। हमें बताएं कि इस विकट परिस्थिति में आपको क्या करना चाहिए।

आप डुप्लीकेट ट्रेन टिकट प्राप्त कर सकते हैं, अगर आपकी ट्रेन का टिकट कहीं गुम हो जाए तो घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि रेलवे भी जानता है कि यह एक सामान्य गलती है जो किसी से भी हो सकती है। ऐसे में भारतीय रेलवे यात्रियों के लिए एक नई सुविधा दे रहा है। यदि आप अपना ट्रेन टिकट खो देते हैं, तो आप डुप्लीकेट ट्रेन टिकट जारी करके यात्रा कर सकते हैं, हालांकि इसके लिए आपको कुछ अतिरिक्त पैसे खर्च करने होंगे।

डुप्लीकेट टिकट के लिए अतिरिक्त शुल्क

भारतीय रेलवे की वेबसाइट indianrail.gov.in के मुताबिक, अगर रिजर्वेशन चार्ट तैयार होने से पहले कंफर्म/आरएसी टिकट गुम होने की सूचना मिलती है, तो उसकी जगह डुप्लीकेट टिकट जारी किया जाता है। रेलवे के मुताबिक इसके लिए कुछ चार्ज देना पड़ता है।
सेकेंड और स्लिपर क्लास का डुप्लीकेट टिकट 50 रुपये में मिलेगा। शेष को द्वितीय श्रेणी के लिए 100 रुपये देने होंगे। यदि, आरक्षण चार्ट बनाने के बाद, कन्फर्म टिकट हानि की जानकारी मिलती है, तो किराए का 50% वसूल करने के लिए डुप्लीकेट टिकट जारी किया जाता है।

CM शिवराज कई कलेक्टरों से नाराज, कहा – मेरा पुतला जला तो छोड़ूगा नहीं

इन 5 बातों का रखें ध्यान, डुप्लीकेट टिकट से जुड़ी इन 5 बातों को ध्यान से पढ़ लें, क्योंकि यह आपके काम जरूर आएगी।

  • यदि आप आरक्षण चार्ट बनाने से पहले आवेदन करते हैं, तो खोए/खोए हुए टिकटों के लिए भी यही शुल्क लागू होगा।
  • भारतीय रेलवे के अनुसार, प्रतीक्षा सूची में विकृत टिकटों के लिए कोई डुप्लीकेट टिकट जारी नहीं किया जाएगा।
  • इसके अलावा, यदि टिकट की प्रामाणिकता और प्रामाणिकता विवरण के आधार पर सत्यापित की जाती है, तो विकृत / विकृत टिकट के मामले में भी धनवापसी स्वीकार्य है।
  • आरएसी टिकट के मामले में, आरक्षण चार्ट तैयार होने के बाद कोई डुप्लीकेट टिकट जारी नहीं किया जा सकता है।
  • यदि डुप्लीकेट टिकट जारी करने के बाद भी मूल टिकट उपलब्ध है और दोनों टिकट ट्रेन छोड़ने से पहले रेलवे को दिखाए जाते हैं, तो डुप्लीकेट टिकट के लिए भुगतान किया गया शुल्क वापस कर दिया जाएगा, हालांकि राशि का 5% काट लिया जाएगा

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button